Wish

किसी को कुछ दिखाना मेरा  मकसद नहीं ,
बस अपना अनुभव व्यक्त करना चाहती हूँ ,

मैंने जिस मोड़ पर चोट खायी ,
उन रास्तों से आगाह करवाना चाहती हूँ |

वो चुभन ,जो मैंने महसूस की , 
वो किसी और के जीवन में न आएं ,
जिस ओर तुम बढ़ो ,मंज़िलें तुम्हे मिलती चली जाएं |

हाँ ,ठोकर तो लगेगी ,
तभी तुम्हे सीख मिलेगी ,

लेकिन में चाहती हूँ ,
मेरा लेख पढ़कर ही तुम्हे वो दर्द दिख जाए ,
कभी गिरकर उठो ,फिर सम्भलो ,
वो  वक़्त तुम्हारा ,तुम्हारे हाथ से न चला जाये |

जीवन के इस खेल में ,मैंने देखें है कई खिलाडी ,
जो आसमान छूने की ताकत रखते  थे ,
पर रह गए वो अनाड़ी|

कहीं तुम्हारी जीवन की गाड़ी का पहिया भी ,
यूँ न पलट जाए ,
कि ,तुम उलझ जाओ परेशानियों में ,
कोई और उस जगह बैठकर ,रफ़्तार में आगे न निकल जाये |

बस मैंने एक इशारा किया है ,
तुम्हारे सामने वो नज़ारा दिया  है ,
गहराईयों में डूबकर समझना इसको ,
मैंने कठनाइयों के बड़े  से समंदर में ,
एक छोटा सा किनारा दिया है |

किसी को कुछ दिखाना मेरा मकसद नहीं ,
बस तुम्हारे लिए कुछ करना चाहती हूँ ,
ये तुम्हारे काम आया तो बहुत सही ,
नहीं तो ,
अब इससे भी अच्छा कुछ सुन्ना चाहती हूँ |


By

Comments