Be sure to read and stay alert शेयर फ़ॉर केअर

जरूर पढ़ें और सचेत रहे !!

कल शाम को एक काल आयी, कोई लड़की थी।

बोली," सर, मैं जॉब के लिए रेजिस्ट्रेशन कर रही थी। गलती से आपका नम्बर डाल दिया है, क्योकि मेरे और आपके मोबाइल नंबर में काफी समानता है। आपके पास थोड़ी देर में एक ओटीपी आएगी, प्लीज बता दो सर, ज़िन्दगी का सवाल है।"

बात बिल्कुल जेनुइन लग रही थी, मैनें इनबॉक्स चेक किया, दो मैसेज आये थे। एक पर ओटीपी था, दूसरा एक मोबाइल से आया मैसेज। लिखा था, dear सर, आपके पास जो ओटीपी आयी है, प्लीज इस नंबर पर भेज दीजिये।thanks in advance.

मैसेज देख ही रहा था कि फोन दोबारा आया .... मैनें ओके क्लिक किया। वही सुमधुर आवाज। बस नंबर दूसरा था।
" सर, आपने देखा होगा अब तक ओटीपी आ गयी होगी। या तो बता दो या फारवर्ड कर दो उस नंबर पर..." प्लीज...
"बता दूंगा, पर आप पहले एक काम करो.."
"हा सर.. बोलिये.."
"जो नंबर आपनें डाला है रेजिस्ट्रेसन में, वो मेरा नम्बर है और उसी से मिलता जुलता नम्बर आपके पास भी है, तभी आपसे ये गलती हुई , है न?"
"हां सर.."
"ओके, उसी नम्बर से मुझे आप कॉल करो, ताकि मैं वेरीफाई कर सकूं की आप सही हो.."
"वो क्या है सर, उस नम्बर में बैलेंस नही है।सर.. एक लड़की की बात पर आपको भरोसा नही..
"बात लड़की, लड़के और भरोसे की नही है। मैं आपको नही जानता, तो बिना जांचे परखे कैसे भरोसा कर लूं..
" तो रहने दीजिए आप..आप जैसे दुस्ट लोगों की वजह से आज मानवता से लोगों का भरोसा उठ गया है। "
दो चार गालियों के साथ उस सुमधुर कर्कशा ने फोन काट दिया।
मन भारी हो गया था। शायद मैं ज्यादा अविश्वासी और टेक्निकल होता जा रहा हूँ।
दोबारा से उस नम्बर को डायल करके ओटीपी बताने के लिए फ़ोन उठाया। तभी icici बैंक का ईमेल का नोटिफिकेशन स्क्रीन पर फ़्लैश हुआ।बैंक का नोटिफिकेशन था, देखना जरूरी था।
लिखा था,
Dear Sir/Madam
You are trying to change your internet banking password, click the link below..
......
मैं सन्न रह गया। मानवता के नाम पर भी इतनी ठगबाज़ी.. धोखेबाज़ी..

मन गुस्से से भर उठा, रीडायल किया, लड़ाई के मूड में..

उधर से जवाब आ रहा था,

The telenor customer, you are trying to reach is not available.

www.anxietyattak.com/2017/11/be-sure-to-read-and-stay-alert.htmlशेयर फ़ॉर केअर












www.empowr.com/alfabizzcorp


www.empowr.com/alfabizzcorp
Be sure to read and stay alert !!

Yesterday came yesterday, there was a girl.

Speaking, "Sir, I was registering for the job, I have put your number by mistake, because there is a lot of similarity between me and your mobile number. You will have an OTP in a while, please tell me sir, life question is."

Thing was genuinely looking, I checked the inbox, there were two messages. One was OTP, the second one came from mobile. It was written, dear, you have the OTP that you have, please send it to this number. Thanks in advance.

The message was that the phone came again .... I clicked OK. The same beautiful voice The bus number was second.
"Sir, you must have seen that OTP has come so far, either to tell or forward it to that number ..." Please ...
"I'll tell, but you do one thing first."
"Sir, please .."
"The number that you have entered in the registrations, it is my number and you have even a similar number, so this mistake has happened to you, is not it?"
"Yes sir .."
"OK, call me from that number, so that I can verify that you are right .."
"What is that sir, that number does not have balance? Sir .. You do not trust the word of a girl ..
"Talk is not about girl, boy and trust. I do not know you, how can I trust without the test.
"Let it be you ... you have lost faith in humanity today due to the misery of people like you."
With two four rants, the happy Karkasha cut the phone.
The mind was heavy. Maybe I'm becoming more skeptical and technical.
Again, dial the number and pick up the phone to tell the OTP. The icici bank's email notification was flashed on the screen. The bank was notified, it was necessary to see.
wrote,

Dear Sir / Madam

You are trying to change your internet banking password, click the link below.
......
I was shocked. Such foul play on the name of humanity .. Cheating ..

The mind was filled with anger, redialed, in the mood of the fight ..

The answer was coming from there,

The telenor customer, you are trying to reach is not available.


(Share for Care)





www.anxietyattak.com/2017/11/be-sure-to-read-and-stay-alert.htmlशेयर फ़ॉर केअर

Comments