Patanjali Emperor, Respected Baba Ramdev Ji आदरणीय बाबा रामदेव जी




केन्द्र सरकार के अघोषित राजगुरु   पतंजली सम्राट को खुला खत:

आदरणीय बाबा रामदेव जी❗

भारत के लाखों लोग पतंजलि और दिव्य योग के उत्पादों का प्रयोग इसलिए ही नहीं करते कि वह गुणवत्ता मैं बहुत अच्छी है बल्कि लोग शुरू शुरू में आपके उत्पादों का प्रयोग राष्ट्रीयता और देशभक्ति के साथ-साथ कम दाम के कारण भी खरीदते थे ।

शुरुआत में आपने स्वयं को प्रचार विरोधी बताकर पतंजलि उत्पाद को अच्छी गुणवत्ता के साथ मार्केट में उतारा जो सही भी था और लोगों ने उसे पसंद भी किया परंतु धीरे-धीरे कब आपके सामानों की कीमत ज्यादा होती चली गई पता न चला ।
और अब कीमत इतनी ज्यादा हो चुकी है की चिंता का विषय बन चुका है ।

अब TV पर हर तीसरा प्रचार पतंजलि का है तो क्या इससे यह अर्थ लगाया जाए कि आप भी अर्थ तंत्र की एक बड़ी मछली के रूप में सामानों को महंगे दामों पर बेचेंगे या बेच रहे हैं?
जो चूर्ण 2015 में 40 का था वही 2016 में 85 का कैसे हो गया ? 100% से भी ज्यादा की बढ़ोतरी ..?

मई 2016 में जिस बादाम रोगन का दाम 110 रुपये था ऐसा क्या हुआ कि वह मात्र 9 माह बाद मार्च 2017 में 150 का हो गया यानी 36% कि बढ़ोत्तरी । यह मूल्य वर्धन की पराकाष्ठा या त्रासदी है । मुझे आपसे यह उम्मीद नहीं थी । ऐसे ही 2 माह पहले बेसन का दाम राजधानी बेसन से 15 रुपये सस्ता था और आज 15 रुपये महंगा हो गया है ।
अब मुझे ऐसा लगने लगा है कि आप के उत्पाद की न्यूरोमार्केटिंग से बाहर आकर मुझे सोचना पड़ेगा क्यों कि आप जनता को बेवकूफ बनाने लगे हैं । भावना और देशभक्ति बेचने के दिन लद गए......?

जनता को भी अब यथार्थ पर आना चाहिए और पतंजलि को भी अपने उत्पाद सही दामों पर बेचने का दबाव बनाना चाहिए और साथ साथ यह भी बताइये की आप पहले कैमिकल का विरोध करते थे तो आपके शैम्पू और आपके साबुनों में क्या लक्ष्मन को जीवित करने वाली जड़ीबूटी डाली है क्या......

हमे ये बताइये आपके ब्यूटी-प्रोडक्ट्स, फेसवाश, सर्फ़, स्लिम-पाउडर ये सब क्या आपने बिना कैमिकल के ही बना लिया और आपको नूडल्स बनाने की क्या पर गयी......ये तो चीन का भोजन है और उसको कॉपी करके आप किस देशभक्ति का काम कर रहे है..... आपके बिस्कुट, आपके चोकोफ्लेक्स क्या ये सब विदेशी सामानों का नक़ल नही है.......
अगर आप देशभक्ति का काम करते तो हर सामान आप और कंपनियों की भांति या उससे भी महंगे दामो में नही बेचते लेकिन नही. आपने तो धंधा शुरू कर दिया........योग सिखाते सिखाते आप कब बिजनेसमैन बन गए, यह पता ही नही चला।
धीरे धीरे आपके देशभक्ति वाले उत्पाद आम आदमी के पहुंच से बाहर हो रहे है..।

http://www.anxietyattak.com/2017/11/patanjali-emperor-respected-baba-ramdev.html

दोस्तों❗ इस मैसेज को खुद तक ही सीमित न रखना। देश में एकाधिकार का जन्म हो रहा है, जो लोकतंत्र के लिए घातक साबित हो सकता है। हर गलत कदम का विरोध हमारा नैतिक कर्तव्य  है।
















The unorganized Rajguru of the Central Government, the Patanjali Emperor,

Respected Baba Ramdev Ji

Millions of people in India use Patanjali and Divya Yoga products therefore do not realize that quality I were very good, but people buy because of low prices as well start using your products with nationalism and patriotism.

At the beginning you put yourself in the market with good quality anti telling Patanjali product promotion which was right and people who also like him, but gradually when did not know and went higher than the cost of your goods.
And now the price has become so high that it has become a matter of concern.

So now every third promotion Patanjali on TV Does it imply that you sell also means high prices for goods such as a large fish net or selling?
How did the crushing of 40 in 2015 be 85 in 2016? Increase of more than 100% ..?

What was the price of almond powder in May 2016, what happened to it was that it increased to just 150 in March 2017 i.e., 36% increase. This is the culmination of value addition or tragedy. I did not expect this from you. In just 2 months ago, the price of gram flour was 15 paise from the capital of Besan and today it has become 15 rupees.
Now I have begun to think that coming out of neuropatical product of your product, I will have to think, because you have started making the people fooled. The days of selling emotion and patriotism ......?

People should also come on now reality and Patanjali were opposed First Chemical's should be pressured to sell your product right prices and tell it with your shampoo and herbs to survive what Laxman in your soaps What is the cast?

These tell your Beauty-Products us, Feswash, surf, slim-powder all what you've made of chemicals without you eat these ...... gone on to create noodles China and copy it Which patriotism is working ... Your biscuits, your chocophlex, is not an imitation of all these foreign items .......
If you do patriotism, you do not sell all goods like you and companies or even in expensive ransom but no. You started the business ........ Yoga teaches you how to become a businessman when teaching yoga, it is not known.
Slowly your patriotic products are getting out of reach of the common man ...



Friends: Do not keep this message confined to yourself. Monopoly is being born in the country, which can prove fatal for democracy. Our moral duty is to oppose every wrong move.

http://www.anxietyattak.com/2017/11/patanjali-emperor-respected-baba-ramdev.html













Comments