Requested to stop the Kashmiri mothers telling their Wives


सभी से निवेदन है कि कश्मीरी माताओं बहनों को अपनी पत्नियां उप-पत्नियाँ बताना बन्द करें, किसी भी धर्म या सम्प्रदाय विशेष के व्यक्ति की पोस्ट पर बार अभद्र तरीके से टिप्पणी न करें।

https://www.anxietyattak.com/2019/08/requested-to-stop-kashmiri-mothers.html

All are Requested to stop the Kashmiri mothers telling their wives their sub-wives, do not indulge in unwarranted comments on the post of a person of any religion or community person.

🎭
जम्मू कश्मीर में संविधान के Article 370और 35A के हटाने के इस ऐतिहासिक फैसले को सही साबित करना भी हमारी जिम्मेदारी है। 

भाषा का संयम बनाए रखें। कश्मीरवासियों को भी यह अहसास करवाएं कि हम इनके साथ है।

 प्लॉट खरीदने जैसे लालची उपहास या अब ससुराल कश्मीर में होगा जैसे घटिया संदेश बनाकर घृणा के बीज मत बोईये।  यह कोई क्रिकेट का मैच नहीं था जो कोई हार गया है और
उसे

"हार गया जी हार गया " 

कहकर चिढाओ। ऐसे संवेदनशील मुद्दों पर देश को एक रहना चाहिये।

 ऐसे फैसले कभी किसी पार्टी के हित-अहित के नहीं होते बल्कि देश के लिए होते है।

जिस दिलेरी और भाव से फैसला लिया गया है उसे सही साबित कीजिये। फब्तियां कभी भी मोहब्बत के बीज नहीं बो सकती, नफरत ही पैदा करेगी। ऐसा व्यवहार मत कीजिये जिसमें लगे कि किसी राज्य या देश पर विजय प्राप्त की है, बल्कि वो व्यवहार कीजिये जो यह अहसास कराये कि हम अपने ही घर में है

और कश्मीरी भी हमारे भाई हैं

देश को बधाई और शुभकामनाएँ


The comment made on Kashmiri's mother sisters demonstrates the conceptual mindset towards our women.



Turn off the business of selling land plots from the morning, please turn off the business too. The people of Kashmir are getting a clear message that some people of the country are destined for only two things,

One is the girls of Kashmir and the land there. The advantage of these messages can be raised by Pakistani-backed people.



If you agree with the government's decision then at least do not be a hindrance for them.



 It is a very historic decision.



Do not let this decision go into joke.



As a responsible citizen of India, I want to inform you that Pakistan-backed separatists have been active on the social media, these are the people who are not happy with the decision of the Indian Prime Minister and they are putting the wrong videos on social media. Before posting the video, be sure to check the veracity of the video.



This country is yours to celebrate, but keep an eye around you. At such a time, the responsibility of every Indian citizen increases and resist the terrorists, not the residents of the state of Kashmir.



  🇮🇳 Jai Hind Jai Bharat 🇮🇳



सभी से निवेदन है कि कश्मीरी माताओं बहनों को अपनी पत्नियां उप-पत्नियाँ बताना बन्द करें, किसी भी धर्म या सम्प्रदाय विशेष के व्यक्ति की पोस्ट पर बार अभद्र तरीके से टिप्पणी न करें।

कशमीर की माँ बहनों पर की गई टिप्पणी हमारी स्त्रीयों के प्रति सुंकुचित मानसिकता को प्रदर्शित करती है।

सुबह से जमीन के प्लॉट ख़रीदने बेचने का जो धंधा चला रखा है उसे भी बन्द करें कृपया। कशमीर के लोगों को साफ़ सन्देश जा रहा है कि देश के कुछ लोगों की नियत सिर्फ और सिर्फ दो चीजों पर है ,
एक तो कश्मीर की लड़कियां और दूसरी वहाँ की जमीन। इन संदेशों का फायदा पाकिस्तानी समर्थित लोग उठा सकते हैं।

सरकार के फैसले से सहमत हैं तो कम से कम उनके लिए तो बाधा न बनें।

 फैसला लिया है वह बहुत ऐतिहासिक फैसला है।

इस फैसले को मजाक में ना जाने दें।

मैं एक भारत का ज़िम्मेदार नागरिक होने के नाते आपको बताना चाहता हूं कि सोशल मीडिया पर पाकिस्तानी समर्थित अलगाववादी सक्रिय हो चुके हैं यह वह लोग हैं जो भारतीय प्रधानमंत्री के निर्णय से खुश नहीं है और वह गलत वीडियो सोशल मीडिया पर डाल रहे हैं कृपया कोई भी वीडियो पोस्ट करने से पहले वीडियो की सबसे सत्यता अवश्य जांच लें।

यह देश आपका है खुशी मनाएं लेकिन अपने आसपास निगाह रखें। ऐसे समय में हर भारतीय नागरिक की जिम्मेदारी और बढ़ जाती है आतंकवादियों का विरोध करें, कश्मीर राज्य के निवासीयों का नहीं।

  🇮🇳   जय हिंद जय भारत      🇮🇳


Comments