Son

नेता के बच्चे ने एक दिन पिता से पूँछा- ➖डैडी! ये टीवी पर हिन्दू मुसलमान क्या चलता रहता है दिन भर।।

नेता बोला- ➖बेटे! ये सब सोचना तुम्हारा काम नहीं,तुम पढ़ाई करो,अगले साल तुम्हें ऑक्सफ़ोर्ड भेजना है,फिर वहां से लौटकर सीधे विधायक या सांसद का इलेक्शन लड़ना है तुम्हें।
ये निठल्ले बेरोजगार हमारे कार्यकर्ता हैं और हमने ही इन्हें इन सब कामों में लगा रखा है।
बेटे ने पूँछा-➖ मगर क्यों डैडी? आप इन्हें पढ़ने लिखने या अच्छी बातें सोचने के लिए क्यों नहीं कहते,जैसे आप मुझे कहते हो??

नेता- ➖ बेटा!अगर ये अच्छी बातें सोचने लगे,अच्छा पढ़ लिख गए तो मुझसे सवाल करेंगें,खराब सरकारी स्कूलों और अस्पतालों पर,शिक्षा,स्वास्थ्य, रोजगार,महंगाई,भ्रष्टाचार पर।। इसीलिए इन्हें हिन्दू मुस्लिम,मंदिर मस्जिद, धर्म जाती, सम्प्रदाय,पाकिस्तान,चीन बहिष्कार जैसे मुद्दों में उलझाए रहते हैं हम लोग।

बेटा-➖लेकिन डैडी...
नेता- ➖लेकिन वेकिन कुछ नहीं बेटा!! तुम इन सब चक्करों में मत पड़ो और विदेश जाने की तैयारी करो।।

ठीक है डैडी!लेकिन मेरा बर्थडे गिफ्ट याद है न आपको??

हाँ बेटा! कैसे भूल सकता हूँ। आज दंगे में मारे गए लोगों के लिए एक कैंडल मार्च है,वहाँ से लौटते समय तुम्हारे लिए ऑडी का नया मॉडल बुक कर आऊँगा।।

लव यू डैडी....

लव यू बेटा..........


App 
Video

Comments