Bank fraud increased almost eight times in 6 years, increased from 19 thousand crores to 1.5 lakh crores

 6 साल में लगभग आठ गुना बढ़ा बैंक फ्रॉड, 19 हजार करोड़ से बढ़कर हुआ डेढ़ लाख करोड़
Bank fraud increased almost eight times in 6 years, increased from 19 thousand crores to 1.5 lakh crores

Fraud of Rs 1 lakh 48 thousand 427 crore in just one year. The real scams are being done under our nose in the amount of our blood and sweat, but now they are just a small news.
Do you know how much amount of money has been scammed in various types of frauds that happen to banks in 2019-20? This amount has reached around one and a half lakh crores this year, whereas in Manmohan Singh's era 7 years ago, in 2013-14 this amount was only 10 thousand 70 crores.
Now, once you look at the amount of banking fraud done in the six years of Modi Raj, you will be surprised to see their dabbling rate.
19 thousand 361 crores in 2014-15
18 thousand 698 crores in 2015-16
23 thousand 984 crores in 2016-17
41 thousand 167 crores in 2017-18
71 thousand 500 crores in 2018-19
1 lakh 48 thousand 427 crores in 2019 -20
A total of 53,334 cases of bank fraud have come to light in the last 11 financial years, while frauds worth Rs 2.05 lakh crore have been reported through them, whereas in this year 2019-20, only 12461 cases have registered fraud of Rs 1 lakh 48 thousand 427 crore has gone.

Source: Google.com




In Last 6 Years: Bank fraud increased almost eight times in 6 years, increased from 19 thousand crores to 1.5 lakh crores



सिर्फ एक साल में 1 लाख 48 हजार 427 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी। असली घोटाले तो ठीक हमारी नाक के नीचे हमारे खून पसीने से जमा रकम में किये जा रहे है लेकिन अब बस वो एक छोटी सी खबर बनकर रह गए हैं।
क्या आप जानते हैं कि 2019 – 20 में बैंको के साथ जो विभिन्न तरह की धोखाधड़ी होती है उसमें टोटल कितनी रकम का घोटाला हुआ है। यह रकम इस साल डेढ़ लाख करोड़ के आसपास जा पुहंची है जबकि आज से 7 साल पहले मनमोहन सिंह के काल में 2013-14 में यह रकम मात्र 10 हजार 70 करोड़ रुपए ही थी।
अब एक बार जरा मोदी राज के 6 सालो में हुए बैंकिंग फ्रॉड की रकम पर नजर डालिए, आप इनका डबलिंग रेट देख कर हैरान रह जाएंगे।
2014-15 में 19 हजार 361 करोड़
2015-16 में 18 हजार 698 करोड़ रुपये
2016-17 में 23 हजार 984 करोड़ रुपये
2017-18 में 41 हजार 167 करोड़ रुपये
2018-19 में 71 हजार 500 करोड़ रुपये
2019 -20 में 1 लाख 48 हजार 427 करोड़ रुपये

पिछले 11 वित्त वर्ष में बैंक फ्रॉड के कुल 53,334 मामले प्रकाश में आये हैं, जबकि इनके जरिये 2.05 लाख करोड़ रुपये की धोखाधड़ी हुई थी जबकि इस 2019 -20 के साल में सिर्फ 12461 मामलों में 1 लाख 48 हजार 427 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी दर्ज की गयी है।

Source : Google.com

मोदीराज: 6 साल में लगभग आठ गुना बढ़ा बैंक फ्रॉड, 19 हजार करोड़ से बढ़कर हुआ डेढ़ लाख करोड़







Comments