an Essay on the Corona

ऑनलाइन क्लासेस---- में टीचर ने बच्चों को ----- कोरोना पर निबन्ध लिखने को बोला .. 
      --- एक बच्चे --को सबसे ज्यादा नम्बर मिले उसका निबन्ध आप भी पढ़िए -----

In online classes ---- the teacher asked the children to write an Essay on the   Corona.

      --- A child - you get the maximum number, you should also read his essay.



--- Corona is a new festival that comes after Holi.

       On its arrival there is a holiday for many days.

       Everybody starts this festival by playing thali, tali and bell and burning lots of lamps.

      Schools and offices are all closed. Everyone stays at home together.

       Mother prepares  new food and displays it on Facebook.

       Papa wipes utensils and brooms.

       The festival of Corona is celebrated by wearing a mask and namaste ------ Besides that it is necessary to drink a bitter Kada

       New clothes are not worn in this festival. ----- Papa wears Bermuda and vest and ---- Mummy celebrates this festival by wearing a gown or anything Sexy. 

      In this festival, friends of our parents or even our neighbors do not come home ------- Therefore, like Deepawali, home does not have to be decorated.

        The best thing about this festival is that the mother gives us the phone herself, now there is no scolding on touching the phone.

       Apart from all my friends --- Everyone outside India also celebrates this festival like New Year.

  


  I LOVE THIS FESTIVAL

---     कोरोना एक नया त्यौहार है जो होली के बाद आता है | 
       इसके आने पर बहुत सारे दिन की होलीडे हो जाती है |
       सब लोग थाली, ताली और घंटा बजाकर और खूब सारे दिए जलाकर इस त्यौहार की शुरुआत करते हैं  | 
      स्कूल और ऑफिस सब बंद हो जाते हैं | सब लोग मिलकर घर पर रहते हैं |
       मम्मी रोज नये फूड बनाकर फेसबुक पर डिस्प्ले करती हैं |
       पापा बर्तन और झाड़ू पोंछा करते हैं |     

       कोरोना का त्यौहार मास्क पहन कर और नमस्ते करके मनाया जाता है ------ उसके अलावा एक कड़वा काढ़ा पीना भी जरुरी होता है  |
       इस त्यौहार में नए कपड़े नही पहने जाते | -----पापा बरमूड़ा और बनियान पहनते हैं और ---- मम्मी गाउन या कुछ भी पहन कर इस त्यौहार को सेलिब्रेट करती हैं | 
      इस त्यौहार में मम्मी पापा के फ्रेंड या हमारे नेबर भी घर नही आते ------- इसलिए दीपावली की तरह घर भी डेकोरेट नही करना पड़ता | 
        इस त्यौहार की सबसे अच्छी बात ये है कि मम्मी हमें फोन खुद देती हैं अब फोन छूने पर डांट नही पड़ती |      
       मेरे सारे फ्रेंड्स  के अलावा --- इण्डिया के बाहर भी सब लोग न्यू इयर की तरह इस त्यौहार को मनाते हैं |
  
  I LOVE THIS फेस्टिवल
😂😂😂🤣🤣🤣👍🏼😂😂


Comments