What are these Covid19 Stages First, Second and Third stage

ये स्टेज क्या होती हैं?

पहली स्टेज
विदेश से नवांकुर आया। एयरपोर्ट पर उसको बुखार नहीं था। उसको घर जाने दिया गया। पर उससे एयरपोर्ट पर एक शपथ पत्र भरवाया गया कि वह 14 दिन तक अपने घर में कैद रहेगा। और बुखार आदि आने पर इस नम्बर पर सम्पर्क करेगा।
घर जाकर उसने शपथ पत्र की शर्तों का पालन किया।
वह घर में कैद रहा।
यहां तक कि उसने घर के सदस्यों से भी दूरी बनाए रखी।
नवांकुर की मम्मी ने कहा कि अरे तुझे कुछ नहीं हुआ। अलग थलग मत रह। इतने दिन बाद घर का खाना मिलेगा तुझे, आजा किचिन में... मैं गरम गरम् परोस दूं।
नवांकुर ने मना कर दिया।
अगली सुबह मम्मी ने फिर वही बात कही। इस बार नवांकुर को गुस्सा आ गया। उसने मम्मी को चिल्ला दिया। मम्मी की आंख में आंसू झलक आये। मम्मी बुरा मान गयीं।
नवांकुर ने सबसे अलग थलग रहना चालू रखा।
6-7वें दिन नवांकुर को बुखार सर्दी खांसी जैसे लक्षण आने लगे। नवांकुर ने हेल्पलाइन पर फोन लगाया। कोरोना टेस्ट किया गया। वह पॉजिटिव निकला।
उसके घर वालों का भी टेस्ट किया गया। वह सभी नेगेटिव निकले।
पड़ोस की 1 किमी की परिधि में सबसे पूछताछ की गई। ऐसे सब लोगों का टेस्ट भी किया गया। सबने कहा कि नवांकुर को किसी ने घर से बाहर निकलते नही देखा। 
चूंकि उसने अपने आप को अच्छे से आइसोलेट किया था इसीलिए उसने किसी और को कोरोना नहीं फैलाया।
नवांकुर जवान था। कोरोना के लक्षण बहुत मामूली थे। बस बुखार सर्दी खांसी बदन दर्द आदि हुआ। 7 दिन के ट्रीटमेंट के बाद वह बिल्कुल ठीक होकर अस्पताल से छुट्टी पाकर घर आ गया।
जो मम्मी कल बुरा मान गईं थीं, वो आज शुक्र मना रहीं हैं कि घर भर को कोरोना नहीं हुआ।
यह पहली स्टेज जहां सिर्फ विदेश से आये आदमी में कोरोना है। उसने किसी दूसरे को यह नहीं दिया।
***********

स्टेज 2-  राजू में कोरोना पॉजिटिव निकला।
उससे उसकी पिछले दिनों की सारी जानकारी पूछी गई। उस जानकारी से पता चला कि वह विदेश नहीं गया था। पर वह एक ऐसे व्यक्ति के सम्पर्क में आया है जो हाल ही में विदेश होकर आया है। वह परसों गहने खरीदने के लिए एक ज्वेलर्स पर गया था। वहां के सेठजी हाल ही में विदेश घूमकर लौटे थे।
सेठजी विदेश से घूमकर आये थे।उनको एयरपोर्ट पर बुखार नहीं था। इसी कारण उनको घर जाने दिया गया। पर उनसे शपथ पत्र भरवा लिया गया, कि वह अगले 14 दिन एकदम अकेले रहेंगे और घर से बाहर नहीं निकलेंगे। घर वालों से भी दूर रहेंगे।
विदेश से आये इस गंवार सेठ  ने एयरपोर्ट पर भरे गए उस शपथ पत्र की धज्जियां उड़ाईं।
घर में वह सबसे मिला।
शाम को अपनी पसंदीदा सब्जी खाई।
और अगले दिन अपनी ज्वेलेरी दुकान पर जा बैठा। (पागल हो क्या! सीजन का टेम है, लाखों की बिक्री है, ज्वेलर साब अपनी दुकान बंद थोड़े न करेंगे)
6वें दिन ज्वेलर को बुखार आया। उसके घर वालों को भी बुखार आया। घर वालों में बूढ़ी मां भी थी।
सबकी जांच हुई। जांच में सब पॉजिटिव निकले।
यानि विदेश से आया आदमी खुद पॉजिटिव।
फिर उसने घर वालों को भी पॉजिटिव कर दिया।
इसके अलावा वह दुकान में 450 लोगों के सम्पर्क में आया। जैसे नौकर चाकर, ग्राहक आदि।
उनमें से एक ग्राहक राजू था।
सब 450 लोगों का चेकअप हो रहा है। अगर उनमें किसी में पॉजिटिव आया तो भी यह सेकंड स्टेज है।
डर यह है कि इन 450 में से हर आदमी न जाने कहाँ कहाँ गया होगा। 
कुल मिलाकर स्टेज 2 यानी कि जिस आदमी में कोरोना पोजिटिव आया है, वह विदेश नहीं गया था। पर वह एक ऐसे व्यक्ति के सम्पर्क में आया है जो हाल ही में विदेश होकर आया है। 
***********

स्टेज 3

रामसिंग को सर्दी खांसी बुखार की वजह से अस्पताल में भर्ती किया, वहां उसका कोरोना पॉजिटिव आया। 
पर रामसिंग न तो कभी विदेश गया था।
न ही वह किसी ऐसे व्यक्ति के सम्पर्क में आया है जो हाल ही में विदेश होकर आया है। 
यानि हमें अब वह स्रोत नहीं पता कि रामसिंग को कोरोना आखिर लगा कहाँ से??
स्टेज 1 में आदमी खुद विदेश से आया था।
स्टेज 2 में पता था कि स्रोत सेठजी हैं। हमने सेठजी और उनके सम्पर्क में आये हर आदमी का टेस्ट किया और उनको 14 दिन के लिए अलग थलग कर दिया।
स्टेज 3 में आपको स्रोत ही नहीं पता।
 स्रोत नहीं पता तो हम स्रोत को पकड़ नहीं सकते। उसको अलग थलग नहीं कर सकते।
वह स्रोत न जाने कहाँ होगा और अनजाने में ही कितने सारे लोगों को इन्फेक्ट कर देगा।
स्टेज 3 बनेगी कैसे?
सेठजी जिन 450 लोगों के सम्पर्क में आये। जैसे ही सेठजी के पॉजिटिव होने की खबर फैली, तो उनके सभी ग्राहक,नौकर नौकरानी, घर के पड़ोसी, दुकान के पड़ोसी, दूध वाला, बर्तन वाली, चाय वाला....सब अस्पताल को दौड़े। 
सब लोग कुल मिलाकर 440 थे।
10 लोग अभी भी नहीं मिले।
पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की टीम उनको ढूंढ रही है।
उन 10 में से अगर कोई किसी मंदिर आदि में घुस गया तब तो यह वायरस खूब फैलेगा।
यही स्टेज 3 है जहां आपको स्रोत नहीं पता।
स्टेज 3 का उपाय
14 दिन का lockdown
कर्फ्यू लगा दो।
शहर को 14 दिन एकदम तालाबंदी कर दो।
किसी को बाहर न निकलने दो।
इस तालाबंदी से क्या होगा??
हर आदमी घर में बंद है।
जो आदमी किसी संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में नहीं आया है तो वह सुरक्षित है।
जो अज्ञात स्रोत है, वह भी अपने घर में बंद है। जब वह बीमार पड़ेगा, तो वह अस्पताल में पहुंचेगा। और हमें पता चल जाएगा कि अज्ञात स्रोत यही है।

हो सकता है कि इस अज्ञात श्रोत ने अपने घर के 4 लोग और संक्रमित कर दिए हैं, पर बाकी का पूरा शहर बच गया।
अगर LOCKDOWN न होता। तो वह स्रोत पकड़ में नहीं आता। और वह ऐसे हजारों लोगों में कोरोना फैला देता। फिर यह हजार अज्ञात लोग लाखों में इसको फैला देते। इसीलिए lockdown से पूरा शहर बच गया और अज्ञात स्रोत पकड़ में आ गया।

क्या करें कि स्टेज 2, स्टेज 3 में न बदले।
Early lockdown यानी स्टेज 3 आने से पहले ही तालाबन्दी कर दो।
यह lockdown 14 दिन से कम का होगा।

उदाहरण के लिए
सेठजी एयरपोर्ट से निकले
उनने धज्जियां उड़ाईं।
घर भर को कोरोना दे दिया।
सुबह उठकर दुकान खोलने गए।
(गजब आदमी हो यार! सीजन का टेम है, लाखों की बिक्री है, अपनी दुकान बंद कैसें कर लें)

पर चूंकि तालाबंदी है।
तो पुलिस वाले सेठजी की तरफ डंडा लेकर दौड़े।
डंडा देख सेठजी शटर लटकाकर भागे।

अब चूंकि मार्किट बन्द है।
तो 450 ग्राहक भी नहीं आये।
सभी बच गए।
राजू भी बच गया।
बस सेठजी के परिवार को कोरोना हुआ।
6वें 7वें दिन तक कोरोना के लक्षण आ जाते हैं। विदेश से लौटे लोगों में लक्षण आ जाये तो उनको अस्पताल पहुंचा दिया जायेगा। और नहीं आये तो इसका मतलब वो कोरोना नेगेटिव हैं।



What are these stages?

First stage

Nawankur came from abroad. He did not have fever at the airport. He was allowed to go home. But he was given an affidavit at the airport that he would be imprisoned in his house for 14 days. And when fever comes, it will contact this number.

Going home, he followed the conditions of the affidavit.

He was imprisoned in the house.

He even kept distance from the members of the household.

Nawankur's mother said, "Hey, nothing has happened to you". Do not remain isolated. After so many days you will get home food, in Aaja Kitchin… I serve hot food.

Nawankur refused.

The next morning, Mummy again said the same thing. This time Nawankur got angry. He shouted to Mummy. Tears appeared in Mummy's eye. Mother felt bad.

Nawankur continued to remain isolated.

On 6-7th day Nawankur started having symptoms like fever, cold cough. Nawankur called the helpline. Corona test was performed. He turned positive.

His family members were also tested. They all turned negative.

The neighborhood was most questioned within a 1 km radius. All such people were also tested. Everyone said that no one saw Nawankur coming out of the house.

Since he isolated himself well, he did not spread the corona to anyone else.

Nawankur was young. The symptoms of corona were very minor. Just fever, cold cough, body pain etc. After 7 days of treatment, he recovered completely and came home after being discharged from the hospital.

The mother, who had felt bad yesterday, is celebrating today, that there was no corona all over the house.

This is the first stage where the corona is only in a man from abroad. He did not give it to anyone else.

***********



Stage 2- Corona turned positive in Raju.

He was asked all the information of his previous days. That information showed that he did not go abroad. But he has come in contact with a person who has recently come abroad. The day before yesterday he went to a jeweler to buy jewelry. There Sethji recently returned from abroad.

Sethji came from abroad and did not have fever at the airport. That is why he was allowed to go home. But his affidavit was made to be filled, that he would remain completely alone for the next 14 days and would not leave the house. Will also stay away from family members.

This proud Seth, who came from abroad, dismantled the affidavit filled at the airport.

He got the most at home.

Eat your favorite vegetable in the evening.

And the next day he went to his jewelery shop. (Are you crazy! It is the season's season, there are millions of sales, jeweler Saab will not close its shop.)

On the 6th day the jeweler got fever. His family also got fever. The old mother was also among the family members.

Everyone was investigated. All came out positive in the investigation.

That is, a man from abroad is himself positive.

Then he also made the housemates positive.

In addition, he came in contact with 450 people in the shop. Such as servants, customers etc.

One of them was Raju.

All 450 people are being checked up. It is a second stage even if there is a positive in them.

The fear is that every one of these 450 people may not know where they went.

Overall, Stage 2 means that the man who has entered the corona positive did not go abroad. But he has come in contact with a person who has recently come abroad.

***********



Stage 3



Ramsing was hospitalized due to cold cough fever, there he came corona positive.

But neither did Ramsing go abroad.

Nor has he come in contact with anyone who has recently come abroad.

That is, we do not know the source now that Ramsing finally found a corona from where ??

In Stage 1 the man himself came from abroad.

Stage 2 knew that the source is Sethji. We tested Sethji and every person who came in contact with him and isolated him for 14 days.

In stage 3 you don't know the source.

 If we do not know the source, we cannot capture the source. Can not isolate it.

No matter where that source will be and how many people will be inadvertently infected.

How will stage 3 be made?

450 people who came in contact with Sethji. As soon as the news of Sethji being positive spread, all his customers, maid maid, house neighbor, shop neighbor, milkman, utensil, chai wala… all ran to the hospital.

Everyone was 440 in total.

10 people still not found.

Police and Health Department team are looking for him.

If any of those 10 entered any temple etc. then this virus will spread a lot.

This is stage 3 where you don't know the source.

Stage 3 remedy

14 day lockdown

Impose curfew.

Lock down the city for 14 days.

Do not let anyone get out.

What will happen with this lockout ??

Every man is locked in the house.

A man who has not come in contact with an infected person is safe.

The unknown source is also locked in his house. When he falls ill, he will arrive at the hospital. And we will come to know that this is the unknown source.



It is possible that this unknown source has infected 4 more people from their home, but the rest of the city survived.

If LOCKDOWN was not there. So that source does not hold. And he would have spread the corona among thousands of such people. Then these thousand unknown people would spread it among millions. That is why the entire city survived the lockdown and the unknown source was caught.



What to do if stage 2 does not change to stage 3.

Early lockdown means lockout before stage 3 arrives.

This lockdown will be less than 14 days.
for example
Depart from sethji airport

They stripped the flag.

Give the whole house a corona


Comments