Indian Small and Medium Merchant's Concern

व्यापारी भाइयों की चिंता:

Indian Small and Medium Merchant's Concern:
Due to the Carona epidemic, the government is calling for the closure of all goods, all shops, all business institutions for about a month and is also being closed. There is a good move for rescue but there is another aspect which neither we have considered nor the government
Now the question
1) From where will the merchant extract the rent of the shop
2) Where will the merchant pay out the installments to the bank
3) How will the merchant remove the salary of the employees
4) The merchant's business transaction is almost closed, where will he withdraw the previous payment and the goods prepared next.
4) How will the raw material of some traders have gone bad in about a month?
5) Children's fees, dress, books are all expenses in schools in April, from where will the merchant withdraw
6) If a trader has a car loan, from where will he pay the installment
7) If a trader has an installment in his house, where will he give it from?
8) Where will the merchant pay the electricity bill
9) Where will the merchant fill GST returns
Shouldn't the government make such an arrangement that the expenses and bank installments and all the transactions etc. in April should not be taken in April and a month be taken forward so that the trader gets some relief
Why should the government's taxes etc. be forgiven for one month?
You are requested to share this message as much as possible to help reach the ears of the government so that even the traders can fight this epidemic without any good losses.
Issued in public interest





कैरोना महामारी के चलते सरकार सभी माल , सभी दुकानें, सभी व्यापारिक संस्थान लगभग एक महीना बंद करने को बोल रही है और बंद भी हो रहे हैं। बचाव के लिए अच्छा कदम है पर एक दूसरा पहलू भी है जिस पर न हमनें विचार किया न ही सरकार ने 
अब सवाल
1) व्यापारी दुकान का किराया कहाँ से निकालेगा
2) व्यापारी बैंक को देने वाली किश्तें कहाँ से निकालेगा 
3) व्यापारी कर्मचारियों की तनख़्वाह कैसे निकालेगा
4) व्यापारी का व्यापारिक लेन देन लगभग बंद हो चुका है वह ऐसे में पिछली पेमेंट और अगला तैयार किया माल कहाँ निकालेगा
4) कुछ व्यापारियों का कच्चा माल लगभग एक महीने में ख़राब हो चुका होगा इसकी भरपाई कैसे करेगा
5) स्कूलों में बच्चों की फीसें, ड्रेस, किताबें सब खर्च अप्रैल में हैं व्यापारी कहाँ से निकालेगा
6) अगर किसी व्यापारी का कार लोन है तो किश्त कहाँ से देगा
7) किसी व्यापारी की घर की किश्त है तो कहाँ से देगा
8)व्यापारी बिजली का बिल कहाँ से भरेगा
9) व्यापारी GST की रिटर्न कहाँ से भरेगा

क्या सरकार को नही चाहिए कि ऐसा इंतज़ाम कर दें कि अप्रैल में होने वाले खर्च और बैंक की किश्तें और सभी लेन देन इत्यादि अप्रैल में न लिए जांए और एक महीना आगे कर दी जाएँ जिस से व्यापारी को कुछ राहत मिले
सरकार द्वारा लिए जाने वाले टैक्स इत्यादि भी एक महीना क्यूं न माफ़ किए जाएँ 

आपसे निवेदन है कि इस संदेश को ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करके सरकार के कानों तक पहुचांने में मदद करें ताकि व्यापारी भी इस महामारी से अच्छे से बिना नुक़सान लड़ सके 

जनहित में जारी
जयहिंद**समस्त व्यापारी गण  व्यापारी एकता जिंदाबाद****

कोरोना वायरस को लेकर राष्ट्र के नाम संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आम जनता से सहयोग ही मांगते रहे, लेकिन उन्होंने ये नहीं बताया कि आख़िर वायरस के परीक्षण, इलाज और पीड़ितों का पता लगाने की चुनौती से निपटने के लिए उनकी सरकार ने क्या कार्ययोजना बनाई है....

देश की सरकार और मिडिया  दोनों चाहती है
की लोग

थाली बजाये, सवाल ना पूछें ।और वो इसमें सफल भी हो रही है ।

Comments