Required Message

ll आवश्यक संदेश ll 
बिना पढ़े डिलीट न करें ।
उचित लगे तो दूसरों को भेजें ।

https://bit.ly/2HvNtk0

ll Required Message ll
Do not delete without reading.
If appropriate, send it to others

Vaghaladhara village is 16 km (on the Suratki) from Valsad, 4 km from Surat on the highway from Surat, Gujarat to Mumbai. On the right hand side you will see the command of "Sri Prabhav Hem Kamadhenu Girivihar Trust, Palitana" operated "Sri Rasiklal Manikchand Dhariwal Cancer Hospital". Thousands of thieves spread fruits, flowers, greenery from the fields, this package is no less than an ashram. There is also a beautiful Jain temple and huge food school here. There are about 400 native cows in the Gaushala here. Here cancer patients (Dardi) and a companion are kept for 10 days for treatment and training. 80 beds available. Nasta can be found at the Dardi during lunch and dinner.

At 4 in the morning, you have to get a case for just Rs 50. Take the case file of the patient (dardi) with her and if operation, chemo is to be taken with her. Between 10.30 to 12.30 in the morning and 3.30 to 5.30 in the afternoon, the doctor is admitted for 10 days after the examination of the doctor. Only the tailor and one partner are allowed entry. In such a situation, Dardi is given absolutely free and partner for 11 days for only Rs. 33 daily for breakfast, 33 coupons for lunch and diner, bus and no expenses. A deposit of Rs 1000 has to be paid which is refunded on the 11th day after showing the receipt (deposit is not refunded if it is withdrawn before 10 days).
4
Yoga, Pranayam at 5.30 in the morning, Panchgavya mixture made of cow dung, cow milk, cow's milk, curd, ghee at 4 o'clock,
Breakfast between 7am and 4pm
Ayurvedic tablets with Gaumutra at 4 o'clock,
4 to 10 cancerous parts of the body with cow dung, gumutra paste and sitting in the sun,
10 o'clock kadha (ukka),
Lunch between 11am and 1pm, Ayurvedic tablets after lunch,
Questions, answers, discussion for catering and treatment of Dardi at 2 am to 3 pm
Kadha (ukala) at 3.30 pm,
Evening meal between 5 to 4 o'clock, followed by Ayurvedic tablets,
Satsang, Kirtan, and later milk to Dardi, from 7 am to 9.30 pm
This routine will continue for 10 days. On the 11th day, you can return to your home by taking 1 month of medicine (about 2500 to 4000 rupees), and treatment at home right here is to be treated with at least one year of abstinence. Medicines have to be taken every month, two months.

Important noteworthy things: -

ोHarodapati or Rodapati, equal treatment for all, uniform rules,
👁 No VIP culture.
👁 Extremely loyal, authentic, sociable, staff engaged in service spirit.
Doctors and staff will eat the same food together.
Three-day assembly, satsang and meal time ban on mobile usage.
If you wish or are favorable on the 9th day, a certified form will be given from the office here. You have to take this form and Dardi and your Aadhaar card to go to Valsad railway station only 14 km, Dardi's Total Free and 50% discount of Sathi will get confirmed ticket. After 1 month, you will get this facility by bringing the form for coming and going 1 time.

Atata Hospital and the biggest hospital of the country wasted lakhs of rupees and the patients who have come near death are exhausted, coming here with hope in the number of seconds of defeat.

Shubham Bhavatu

With best wishes

vaghaldhara hospital






सूरत, गुजरात से मुम्बई के राजमार्ग पर सूरत से ७८ किलोमीटर  वलसाड से 16 km ( सुरतकी तरफ)  पर वाघलधारा गाँव है । राइट हेंड साइड पर आपको "श्री प्रभव हेम कामधेनु गीरीविहार ट्रस्ट, पालीताणा" संचालित "श्री रसिकलाल माणिकचंद धारीवाल कैंसर हॉस्पिटल" की कमान दिखाई देगी । हजारो चोरस मिटर मै फैला फल, फूल, खेत से हराभरा ये संकुल कोई आश्रम से कम नही। यहाँ अति सुंदर  जैन मंदिर एवं विशाल भोजन शाला भी है । ऒंर यहां की गौंशाला में करीब 400  देशी गाय है । यहां कैंसर के मरीज़ (दर्दी) एवं एक साथी को 10 दिन उपचार एवं ट्रेनिंग के लिए रखा जाता है । 80 बेड उपलब्ध है।  नास्ता, लंच और डिनर के समय दर्दी से मिल सकते है।

सुबह ९ बजे आपको सिर्फ ५० रुपये मे केस निकलवाना है । अपने साथ मरीज़ (दर्दी) की केस फाइल एवं अगर ऑपरेशन, केमो करवाई हो तो वो साथ ले जानी है । सुबह १०.३० से १२.३० और दोपहर ३.३० से ५.३० दरमियान डॉक्टर द्वारा दर्दी की जांच के बाद १० दिन के लिए एडमिट किया जाता है । केवल दर्दी एवं एक साथी को ही प्रवेश की अनुमति है। ऐसी स्थिति में दर्दी को बिलकुल मुफ्त एवं साथी को ११ दिन के लिए केवल ३३ रुपये में रोज सुबह नास्ता, लंच एवं डीनर के लिए ३३ कूपन दीये जाते है, बस और कोई खर्च नहीं । रुपये १००० की डिपॉज़िट देनी होती है जो ११वें दिन रसीद दिखाने पर वापस मिल जाती है ( १० दिन से पहले निकलने पर डिपॉज़िट वापस नही मिलती )।
🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻
सुबह ५.३० बजे योग, प्राणायाम, ७ बजे गाय के गोबर, गौमुत्र, गाय का दुध, दही, घी से बना पंचगव्य मिश्रण,
८ से ९ बजे के बीच नास्ता,
९ बजे गौमुत्र के साथ आयुर्वेदिक टेबलेटस,
९ से १० शरीर के कैंसरग्रस्त भाग मे गोबर, गौमुत्र का लेप लगाकर धूप मे बैठना,
१० बजे काढा ( उकाळा),
११ से १ बज के बीच लंच, लंच के बाद आयुर्वेदिक टेबलेटस,
२ से ३ बजे सभाग्रुह में दर्दी के खानपान एवं उपचार के लिए सवाल जवाब, चर्चा, 
३.३० बजे काढा (उकाळा), 
५ से ६ बजे के बीच सायंकाल भोजन, उसके बाद आयुर्वेदिक टेबलेटस, 
८ बजे से ९.३० बजे तक सत्संग, कीर्तन, और बाद में दर्दी को दूध, 
यही दिनचर्या १० दिन जारी रहेगी । ११वें दिन आप १ महिने की दवाई (करीब २५०० से ४००० रुपएकी) लेकर अपने घर लौट सकते है, और घर पर ठीक यहाँ की तराह कम से कम एक साल बताये गये परहेज के साथ उपचार करना है । महीने, दो महीने पर दवाइयाँ लेने जाना है ।

अहम ध्यानाकर्षित बाते :-

👁करोड़पति हो या रोडपति, सब  के लिए समान व्यवहार,एक समान नियम,
👁कोई वीआइपी कल्चर नहीं।
👁अति निष्ठावान, प्रामाणिक,मिलनसार, सेवा भावना मे लीन स्टाफ।
👁डॉक्टरों एवं स्टाफ साथ में ही समान खाना खायेंगे।
📵तीन समय की सभा, सत्संग ऐवं भोजन समय मोबाइल के उपयोग पर प्रतिबंध ।
🛑 ८वें दिन अगर आपकी इच्छा हो या अनुकूल हो तो यहाँ की ऑफिस से प्रमाणित किया फॉर्म दिया जाएगा। आपको ये फॉर्म और दर्दी और आप का आधार कार्ड लेकर केवल १७ किलोमीटर वलसाड रेलवे स्टेशन जाना है, दर्दी की टोटल फ्री और साथी की ५०% discount पर confirm टिकट मिल जाएगी । १ महीने के बाद १ बार आने, जाने के लिए भी फॉर्म साथ में ले आने पर यह सुविधा प्राप्त होगी। 

💀टाटा हॉस्पिटल एवं देश की बड़ी बड़ी हॉस्पिटल में लाखों रुपये बरबाद करके मृत्यु के समीप पहुँचे हुए मरीज थक, हार के सेंकडो की संख्या मे यहाँ आशा के साथ आ रहे है।

शुभम् भवतु ।

शुभकामनाँ के साथ 🙏🏻
vaghaldhara  hospital


सावधान हिंदुवो, हिन्दुत्व को तोड़ने का षड्यंत्र रचा जा रहा है !

ढोंगी, देशद्रोही रामपाल  को Boycott करिये, बहुत ही खतरनाक षडयंत्र रच रहा ये रामपाल और उसके समर्थक सोशल मीडिया के माध्यम से !

रामपाल फ्री भगवत गीता का आड़ लेके गीता तेरा ज्ञान अमृत बुक सोशल मीडिया के माध्यम से फ्री में सभी को दे रहा है ! लोगो का अड्रेस मांग कर और इस बुक में बहुत ही उलूल जुलूल हिन्दू विरोधी बात लिखा गया है, जिसको पढ़ने के बाद बहुत से भोले भाले हिन्दू इस रामपाल के बातों में आ के हिन्दू विरोधी बन रहे !

रामपाल खुद जेल में बंद है पिछले 5 वर्ष से और खुद को भगवान कहता है और राम कृष्ण शिव को झूठा और हिंदुवो के त्योहार रीति रिवाज को झूठ पाखंड बताता है ! 

इनके समर्थक बुक फ्री में दे रहे है और न जाने भोले भाले हिन्दू Free के नाम पे बुक मंगवा कर षडयंत्र में फस रहे है ! बिल्कुल वेसे ही जैसे फ़्री की लत मैं आज पूरी दिल्ली का यही हाल है !

खुद को भगवान घोषित करने का षड्यंत्र और वामपन्थी विदेशी ताकतों का फंडिंग मिलता है ! इनको ये फर्जी स्वर्ग की टिकट बांटता था ! अपने नहाए दूध की खीर बेचता था ! उसको खरीद कर खाते थे, इसके चेले स्वर्ग जाएंगे कर के। ये सड़ रहा है खुद जेल में अब लेकिन जिनका ब्रेनवाश किया है वो इसे भगवान मानते है !

पाखंड रामपाल के समर्थक लोग बड़े बड़े फिल्मस्टार को ये किताब दे के लोगो को भ्रमित कर अपना प्रचार कर रहे है ! 

Post शेयर करे एवं अधिक से अधिक लोगो को जागरूक करे, इस पाखड़ हिन्दू विरोधी का बुक को कोई भी न ले अगर इसकी पुस्तक बांटने बाले आशपास नज़र आए तो तरीका से मरम्मत करे ?


वन्दे मातरम्...🚩


Comments