The Great Sindhi

A Sindhi went to the bank,

And asked for a loan of Rs. 50,000 from the bank manager.

The bank manager asked for the guarantor.

Sindhi gets her BMW car in front of the bank
Parked
She had gerenti's methods
Deposited with

The manager checked the car's paper,

And by giving loan to the vehicle in custody
To stand
Notice to employee, Sindhi went with Rs 50,000.

Bank manager and employee laugh at Sindhi
And started talking about being a millionaire
Even your car only
50,000 and went away by pledge.

What a stupid man.

Then after 2 months, Sindhi returned to the bank


And by paying all the loan amount

Bank manager calculated and said: Rs 50,000 And plus interest.
Rs 1250 

Sindhi gave all the money.

Did not stop with Bank Manager and asked:

That even if you were such a millionaire, you would get 50,000
How did the need of the money arise, Sindhi replied: I came to Delhi.
I was going to America.
I had a flight.

In Delhi
Where to  park my BMW Car
Want to do this my most
It was a big problem.

But you solved this problem.

My car is still safe
In custody for two months
And Rs 50,000
To do both work to spend
Charged only 1250 rupees.

Thanks a lot.!

That's why the Great Sindhi says ...

Ours is not bad
Just a few hobbies are high.

Otherwise someone's dream
Not so much,
We shall see and that is not complete ...

We are the kings of kings, therefore
Do not move like slaves,

The photo on noto can also be ours,
On
In logo pocket
It is not our way to live.

Share in 5 minutes!


👌👌👌👌👌👌👌👌👌💕

 Jai Ho Sindhi


एक सिन्धी  बैँक मेँ
गया,

और बैँक मेनेजर से रु.50,000 का लोन मांगा.

बैँक मेनेजर ने गेरेँटर मांगा.

सिन्धी ने अपनी BMW कार 🚔जो बैँक के सामने
पार्क की हुई
थी उसको गेरेँटी के तरीके
से जमा करवा दी.

मेनेजर ने गाडी के कागज चैक किए,

और लोन देकर गाडी को कस्टडी मेँ
खडी करने के लिए
कर्मचारी को सुचना दी सिन्धी 50,000 रुपये लेकर चला गया.

बैँक मेनेजर और कर्मचारी सिन्धी  पर हँसने
लगे और बात करने लगे कि यह करोडपति होते हुए
भी अपनी गाडी सिर्फ
50,000 मेँ गिरवी रख कर चला गया.

कितना बेवकुफ आदमी है.😗😗

उसके बाद 2 महीने बाद सिन्धी वापस बैँक मे
गया 

और लोन की सभी रकम देकर
अपनी गाडी वापस लेने
की इच्छा दर्शायी.

बैँक मेनेजर ने हिसाब-किताब किया और बोला : 50,000 मुल
रकम के साथ 1250 रुपये ब्याज.

सिन्धी ने पुरे पैसे दे दिए.
बैँक मेनेजर से रहा नही गया और उसने पुछा :
कि आप इतने करोडपति होते भी आपको 50,000
रुपयो कि जरुरत कैसे पड़ी तो सिन्धी ने जवाब दिया : मैँ Delhi से आया था.
मैँ अमेरिका जा रहा था.
मेरी फ्लाइट थी.

दिल्ली मेँ
मेरी गाडी कहा पार्क
करनी है यह मेरी सबसे
बडी प्रोबलम थी.

लेकिन इस प्रोबलम को आपने हल कर दिया.

मेरी गाडी 🚔भी सेफ
कस्टडी मेँ दो महीने तक संभाल के
रखी और 50,000 रुपये
खर्च करने के लिए भी दिए दोनो काम करने
का चार्ज लगा सिर्फ 1250 रुपये.

आपका बहुत बहुत धन्यवाद.!
इसिलिए कहते The Great Sindhi...

आदते बुरी नही हमारी
बस थोडे शौक उँचे है | 

वर्ना किसी ख्वाब
की इतनी औकात नही,
की हम देखे और वो पूरा ना हो...

हम बादशाहो के बादशाह है, इसलीए
गुलामो जैसी हरकते नही,

नोटो पर फोटो हमारा भी हो सकता, 
पर
लोगो की जेब मे
रहना हमारी फीतरत नही।

5 मिनट मे शेयर करे ! 
अगर आप भी एक सिन्धी है तो....
👌👌👌👌👌👌👌👌👌💕 Jai Ho Sindhi

Comments