My Life and Time

ज़िन्दगी से लम्हें चुरा
 बटुए में रखता रहा!

फुरसत से खरचूंगा
बस यही सोचता रहा।

www.anxietyattak.com/2019/10/my-life-and-time.html

उधड़ती रही जेब
करता रहा तुरपाई

फिसलती रही खुशियाँ
करता रहा भरपाई।

इक दिन फुरसत पाई
सोचा .......
खुद को आज रिझाऊं
बरसों से जो जोड़े
वो लम्हें खर्च आऊं।

खोला बटुआ..लम्हें न थे
जाने कहाँ रीत गए!

मैंने तो खर्चे नहीं
जाने कैसे बीत गए !!

 फुरसत मिली थी सोचा
 खुद से ही मिल आऊं।

आईने में देखा जो
पहचान  ही न पाऊँ।

ध्यान से देखा बालों पे
चांदी सा चढ़ा था,

था तो मुझ जैसा पर
जाने कौन खड़ा था.......

ज़िन्दगी से लम्हें चुरा
 बटुए में रखता रहा!
फुरसत से खरचूंगा

बस यही सोचता रहा। 

Read More ........... 

www.anxietyattak.com/2019/10/my-life-and-time.html

कितना भी समेट लो.. 
हाथों से फिसलता ज़रूर है..

ये वक्त है साहब..
बदलता ज़रूर है..✍✍
 इंसान की  अच्छाई  पर,
       सब खामोश  रहते हैं...

चर्चा अगर उसकी बुराई पर हो,

    तो गूँगे भी बोल पड़ते हैं..!!!



THIS IS FOR YOU IF U THINK : 
*    You are equipped with amazing writing skills.
*    You are a good Writer.
*    You are an avid Reader.
*    You are organized and efficient.
*    You have intelligent decision-making skills.
*    You can meet challenges head-on.
*    You are adaptable.
*    You can multitask.
*    You are confident and focused.
*    You have good communication skills.
*    You can spot talent and assess skills according to requirements.
*    You can work under pressure.
*    You love working in a team.
*    You get along well with people. Active on Fb, Twtr and Linkedin

Before You Write, Please Read  Sample Stories   [ Click to Open ]

www.anxietyattak.com/2019/02/aim-and-dreams.html

Be an Aviator Not a Pilot Captain Mohit and Madhu



https://www.alfabloggers.com/2017/02/water-melons-management-story.html



ज़िन्दगी से लम्हें चुरा
 बटुए में रखता रहा!
फुरसत से खरचूंगा
बस यही सोचता रहा।  Read More ...........   www.anxietyattak.com/2019/10/my-life-and-time.html 




Comments