In the coming 10/12 years, a generation is going to leave the world

आने वाले 10/12 साल में एक पीढी,संसार छोड़ कर जाने वाली है,
.
कड़वा है,लेकिन सत्य है।

इस पीढ़ी के लोग बिलकुल अलग ही हैं...
रात को जल्दी सोने वाले, सुबह जल्दी जागने वाले,भोर में घूमने निकलने वाले।

आंगन और पौधों को पानी देने वाले, देवपूजा के लिए फूल तोड़ने वाले, पूजा अर्चना करने वाले, प्रतिदिन मंदिर जाने वाले।

रास्ते में मिलने वालों से बात करने वाले, उनका सुख दु:ख पूछने वाले, दोनो हाथ जोड कर प्रणाम करने वाले, पूजा होये बगैर अन्नग्रहण न करने वाले।

उनका अजीब सा संसार......
तीज त्यौहार, मेहमान शिष्टाचार, अन्न, धान्य, सब्जी, भाजी की चिंता तीर्थयात्रा, रीति रिवाज, सनातन धर्म के इर्द गिर्द घूमने वाले।*

पुराने फोन पे ही मोहित, फोन नंबर की डायरियां मेंटेन करने वाले, रॉन्ग नम्बर से भी बात कर लेने वाले, समाचार पत्र को दिन भर में दो-तीन बार पढ़ने वाले।

हमेशा एकादशी याद रखने वाले, अमावस्या और पुरमासी याद रखने वाले लोग, भगवान पर प्रचंड विश्वास रखनेवाले, समाज का डर पालने वाले, पुरानी चप्पल, बनियान, चश्मे वाले।

गर्मियों में अचार पापड़ बनाने वाले, घर का कुटा हुआ मसाला इस्तेमाल करने वाले और हमेशा देशी टमाटर, बैंगन, मेथी, साग भाजी ढूंढने वाले।

नज़र उतारने वाले, सब्जी वाले से 1-2 रूपये के लिए, झिक झिक करने वाले लोग।*

क्या आप जानते हैं.....

ये सभी लोग धीरे धीरे, हमारा साथ छोड़ के जा रहे हैं।

क्या आपके घर में भी ऐसा कोई है? यदि हाँ, तो उनका बेहद ख्याल रखें।*

अन्यथा एक महत्वपूर्ण सीख, उनके साथ ही चली जायेगी.....वो है, *संतोषी जीवन, सादगीपूर्ण जीवन, प्रेरणा देने वाला जीवन, मिलावट और बनावट रहित जीवन, धर्म सम्मत मार्ग पर चलने वाला जीवन और सबकी फिक्र करने वाला आत्मीय जीवन।

आपके परिवार मैं जो भी बडे हौ उनको मान सन्मान और अपनापन, समय तथा प्यार दीजिये ।।

संस्कार ही
अपराध रोक सकते हैं 
सरकार नहीं !!

In the coming 10/12 years, a generation is going to leave the world,
.
Bitter, but true.

People of this generation are completely different ...
Those who sleep early in the night, wake up early in the morning, those who wander at dawn.

Watering the courtyard and plants, flower breakers for Devpuja, worshipers, temple goers every day.

Those who talk to those who meet on the way, those who ask for their happiness and sorrow, they bow with folded hands, those who do not worship without worshiping.

Their strange world ……
Teej festivals, guest etiquette, food, cereal, vegetable, bhaji's concern pilgrimage, customs, revolving around Sanatan Dharma. *

Mohit fascinated on the old phone, who maintains the phone number diaries, also talked to the phone number, read the newspaper two or three times a day.

People who always remember Ekadashi, those who remember Amavasya and Puramasi, those who have strong faith in God, fear of society, old slippers, vests, spectacles.

In the summer, pickle papad makers, homegrown seasoning and always looking for native tomatoes, brinjal, fenugreek, greens.

People who glance, for 1 to 2 rupees from vegetable ones, those who flicker. *

Do you know.....

All these people are slowly leaving our side.

Is there any such in your house? If yes, take great care of them. *

Otherwise, an important lesson will go with them…. That is, * Life of contentment, life of simplicity, life of inspiration, life without adulteration and texture, life on the path of righteousness and life of all concerned. .

Whatever honor you have in your family, give them respect and belonging, time and love.

Rite only
Can stop crime

Not the government !!

एक महिला के व्रत से प्रसन्न होकर भगवान प्रगट हुए और उस महिला से पाँच वरदान माँगने को कहा

महिला...
(1) मेरा पति मेरे बिना कहीं न जाए,
(2) मेरे पति के जीवन में मुझसे ज्यादा महत्वपूर्ण कुछ न हो,
(3) उसे नींद तभी आये जब मैं उसके बगल में होऊं,
(4) जब सुबह उसकी आँख खुले वो सबसे पहले मुझे देखें और
(5) अगर मुझे एक छोटी सी खरोंच भी आ जाए तो वो दर्द से कराह उठें!


भगवान ने कहा: तथास्तु ...


और वो औरत  स्मार्ट फोन में बदल गयी!!


🤣😂🤦🏻‍♂😂🤣

सत्य घटना पर आधारित!
😄😄😄😄😄😄😄😄

Comments