Please Share

यह  नए हिजड़े खड़े हुए इनको जरा फेमस करो कल तक माफी मांगते नजर आएंगे                 
 मित्रो, हिन्दू के बेटे हो तो और भारत मे जन्म लिया है तो,आपके जितने ग्रुप हो 10,20,30 के उससे भी ज्यादा तो उन सारे ग्रुप्स में इस मैसेज को शेयर करो ताकि ये मैसेज हमारे प्रधानमन्त्री श्री नरेन्द्र मोदीजी तक पहुच जाए ।

जिसने अपनी माँ का दूध पिया होगा वह देखते ही शेयर करेगा ।।
https://www.anxietyattak.com/2019/09/please-share.html


मैं अक्सर मोदीजी की   उनके बारे में कुछ कम मशहूर अच्छी बातें बताता हूँ।

सर्व प्रथम उनके दीर्घायु एवं स्वस्थ रहने की शुभ कामना करता हूँ ।

क्या आपको जानकारी है की
मोदीजी ने दो बार जन्म लिया - पहला 29 अगस्त 1949 को (उनकी डिग्री पर) और दूसरा 17 सितंबर 1950 को (सार्वजनिक क्षेत्र में उपलब्ध)।

1950 में पैदा हुए मोदीजी ने 6 साल की उम्र में वडनगर रेलवे स्टेशन पर चाय बेची थी, लेकिन वडनगर में केवल ट्रैक ही गुजरते थे। वास्तविक रेलवे स्टेशन 1973 में बनाया गया था, जब मोदीजी 23 साल के थे।

मोदीजी आपातकाल के दौरान भूमिगत थे लेकिन उन्होंने 1978 में दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक किया।

मोदीजी ने दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक प्रमाणपत्र के बिना 1983 में गुजरात विश्वविद्यालय से संपूर्ण राजनीति विज्ञान में परास्नातक किया।

मोदीजी दुनिया के एकमात्र व्यक्ति हैं जिनके पास संपूर्ण राजनीति विज्ञान में मास्टर्स डिग्री है। यहां तक ​​कि गुजरात विश्वविद्यालय के प्रोफेसरों को 2014 के बाद इस पाठ्यक्रम का पता चला।

मोदीजी ने संपूर्ण राजनीति विज्ञान की डिग्री में परास्नातक में प्रवेश लिया, अकेले परीक्षा दी, और अकेले डिग्री ली। अब तक, किसी भी छात्र या प्रोफेसर ने मोदीजी के साथ अध्ययन करने का दावा नहीं किया है।

भारत में कंप्यूटर की शुरुआत से पहले ही, मोदीजी की डिग्री एक कंप्यूटर द्वारा मुद्रित की गई थी।

1978 में मोदीजी की डिग्री से पहले और 10 साल बाद भी, डिग्री विश्वविद्यालय के कर्मचारियों द्वारा लिखी गई थी।

Microsoft द्वारा 1992 में पेटेंट किए गए फ़ॉन्ट का उपयोग 1978 में मोदीजी की डिग्री को प्रिंट करने के लिए किया गया था।

मोदीजी की डिग्री रविवार को छपी थी, जब कार्यालय बंद थे।

मोदीजी को  शुभकामनाएँ।

यदि आप लोग अभी भी विश्वास नहीं करते हैं कि मोदीजी अलौकिक हैं,

तो आप राष्ट्र-विरोधी हैं! जय हिन्द वन्दे मातरम्

भाषण से विकास करा दूं
भाषण से काला धन ला दूं 
भाषण से 15 लाख दिला दूं
भाषण से महंगाई कम करा दूं 
भाषण से डालर रूपया बराबर कर दूं 
भाषण ही मेरा शासन है ,
आखिर भाषण ही तो अंधभक्तो का राशन है।


 https://www.youtube.com/watch?v=_xmVNI7mB_w&t=237s

Comments