Answers

हमारे मित्र का बेटा 18 घंटे पड़ने के बाद 10 वीं में क्लास में फेल हो गया 🤔🤔🤔
पिता जी को विश्वास नही हुआ तो विधालय जा कर आंसर सीट निकलवाई 📃😡😡
उसमें जो देखा,
https://www.anxietyattak.com/2019/09/answers.html

खुद आश्चर्य चकित था क्योंकि प्रश्न उत्तर निम्न प्रकार से थे।


प्रश्न-- श्वेत क्रांति कब शुरु हुई ?
Answer-- 2014 के बाद ।।
प्रश्न-- हरित क्रांति कब शुरु हुई ?
Answer-- 2014 के बाद।।
प्रश्न-- भारत ने पहला परमाणु बम परीक्षण कब किया ?
Answer- 2015 के बाद।।
प्रश्न--दलितों के हित की योजनाएं कब चालू हुई ?
Answer --2016 के बाद।।
प्रश्न--भारत की नवरत्न कंपनियां, AIMSs, IITs, ISRO, IIMs आदि कब बनी थी ?
Answer --2014 के बाद ।।
प्रश्न---पहला कंप्यूटर कब आया ?
Answer--2015 के बाद 🤓🤓
प्रश्न- भारत देश कब आजाद हुआ ?
Answer-- 2014 के बाद 🤓🤓
प्रश्न--भारत में पंचायती राज कब आया था ?
Answer --2016 के बाद
प्रश्न--भारत के राष्ट्रपिता कौन हैं ?
Answer --हेडगेवार
प्रश्न--भारत के महान संत कौन कौन हैं ?
Answer --आसाराम बापू, राम रहीम, लाला रामदेव, प्रज्ञा सिंह, ढोंगी अजय विष्ठा, उमा भारती, साध्वी निरंजन ज्योति, ॠतंभरा आदि
प्रश्न--भारत के आदर्श पुरूष कौन हैं ?
Answer -- मध्य प्रदेश वाले राघव जी।
प्रश्न--भारत को आजाद किस व्यक्ति और विचारधारा ने कराया ?
Answer -- नरेंद्र मोदी और संघ।।
प्रश्न--भारत की राजमाता कौन है ?
Answer -- स्मृति ईरानी ।।
प्रश्न-- उदारीकरण कब आया ?
Answer-- 2014 के बाद ।।
प्रश्न-- संचार क्रांति कब शुरु हुई ?
Answer-- 2014 के बाद ।।
प्रश्न-- बैंको का राष्ट्रीयकरण कब हुआ
Answer-- नोटबंदी के दौरान ।।
प्रश्न-- आर्मी, नेवी, एअरफोर्स, बी.एस.एफ., CISF, ITBP, SPG, NSG, COST GOURD, आदि का गठन किसने और कब किया ?
Answer-- नरेंद्र मोदी ने 2014 के बाद।।
इतने पर ही 😡😡😡😡
पिताजी तमतमाते हुए घर बापस आये और दो थप्पड़ मार के बोले
तूने क्या लिखा अपनी 📃कॉपी में ??
इतना गलत ये सब क्या है 😳??
Book 📖उठा कर देख क्या लिखा है ??
😰😰बच्चा रोते हुए पापा मेने book📖 तो पढ़ी थी।
परन्तु आप को मैने न्यूज़ पर देखा था तब आप बोल रहे थे 70 साल से हमारे देश में कुछ भी नही हुआ
इसलिए ये ही सही होगा ना??😣😣😣
😥😥पहली बार उस बच्चे को ये एहसास हुआ कि आज के बाद में अपने बाप की नही सुनुगां 😥😡😡 और उसने मान लिया कि अपने दिमाग का इस्तेमाल करूंगा।।
🤣🤣🤣🤣🤣🤣
वाट्स अप ज्ञान



पिता का पुत्र के नाम पत्र

लखनऊ के एक उच्चवर्गीय बूढ़े पिता ने अपने पुत्रों  के नाम एक 

चिट्ठी लिखकर खुद को गोली मार ली। चिट्टी क्यों लिखी और क्या लिखा। यह जानने से पहले संक्षेप में चिट्टी लिखने की पृष्ठभूमि जान लेना जरूरी है।

पिता सेना में कर्नल के पद से रिटार्यड हुए । वे लखनऊ के एक पॉश कॉलोनी में अपनी पत्नी के साथ रहते थे। उनके दो बेटे थे। जो उन से दूर अमेरिका में रहते थे। यहां यह बताने की जरूरत नहीं है कि माता-पिता ने अपने लाड़लों को पालने में कोई कोर कसर नहीं रखी। बच्चे सफलता की सीढ़िंया चढते गए। पढ़-लिखकर इतने योग्य हो गए कि दुनिया की सबसे नामी-गिरामी कार्पोरेट कंपनी में उनको नौकरी मिल गई। संयोग से दोनों भाई एक ही देश में,लेकिन अलग-अलग अपने परिवार के साथ रहते थे।


एक दिन अचानक पिता ने रूंआसे गले से बेटों को खबर दी। बेटे! तुम्हारी मां अब इस दुनिया में नहीं रही । पिता अपनी पत्नी के लाश के साथ बेटों के आने का इंतजार करते रहे। एक दिन बाद छोटा बेटा आया, जिसका घर का नाम चींटू था। पिता ने पूछा  चिंटू मुन्ना क्यों नहीं आया। मुन्ना यानी बड़ा बेटा। छोटे बेटे के मुंह से एक सच निकल पड़ा। उसने पिता से कहा कि मुन्ना भईया ने कहा कि मां की मौत में तुम चले जाओ। पिता जी मरेंगे, तो मैं चला जाऊंगा।


कर्नल साहब ( पिता) कमरे के अंदर गए। उन्होंने  चंद पंक्तियो का एक पत्र लिखा। जो इस प्रकार था-


प्रिय बेटों
मैंने और तुम्हारी मां ने बहुत सारे अरमानों के साथ तुम लोगों को पाला-पोसा। दुनिया के सारे सुख दिए। देश-दुनिया के बेहतरीन जगहों पर शिक्षा दी। जब तुम्हारी मां अंतिम सांस ले रही थी, तो मैं उसके पास था।वह मरते समय तुम दोनों का चेहरा एक बार देखना चाहती थी और तुम दोनों को बाहों में भर कर चूमना चाहती थी। तुम लोग उसके लिए वही मासूम मुन्ना और चिंटू थे। उसकी मौत के बात उसकी लाश के पास तुम लोगों का इंतजार करने लिए मैं था। मेरा मन कर रहा था कि काश तुम लोग मुझे ढांढस बधाने के लिए मेरे पास होते। मेरी मौत के बाद मेरी लाश के पास तुम लोगों का इंतजार करने के लिए कोई नहीं होगा। सबसे बड़ी बात यह कि मैं नहीं चाहता कि मेरी लाश निपटाने के लिए तुम्हारे बड़े भाई को आना पड़े। इसलिए सबसे अच्छा यह है कि मां के साथ मेरी लाश को निपटाकर ही जाओ।

तुम्हारा.

पिता

कमरे से ठांय की आवाज आई। कर्नल साहब ने खुद को गोली मार ली।

यह क्यों हुआ, किस कारण हुआ? कोई दोषी है या नहीं।

यह काल्पनिक कहानी नहीं। पूरी तरह सत्य घटना है। व्यक्ति विशेष के नाम को मैंने हटा दिया है।

आधुनिक जीवनशैली और शिक्षा..क्या सीखा रही है..???

Comments