Amazing India

कमाल है?🤔

Amazing?

Without helmet ... penalty Rs.1000 / -
Parking in No Parking ... Fine 3000 / -
Insurance is not there ... Fines Rs.1000 / -
Driving drunk ... Fines 10000 / -
Driving in No Entry ... Fines 5000 / -
Talking on mobile phone ... fine 2000 / -
No Pollution Certificate ... Penalty 1100 / -
Triple seat driving ... fine 2000 / -

At The same time :(

Bad signal ... no one is responsible!
Pits on the road… no one is responsible!
Increased Pavement ... No Responsible!
No lights on the road ... no one is responsible!
Garbage is flowing on the road ... no one is responsible!
No pillars of light on roads ... no one is responsible!
Road no repairs ... no one is responsible!
Fall in the pit, you fall and get injured ... no one is responsible!
Over the cows animal collides, the dog bites… no one is responsible!

It seems that the public is the only culprit and is liable to pay the fine. The administration, corporation and government are not responsible. No rules apply to them. They are never responsible for any omissions.
Shouldn't they be blamed ?? ❓❓🙃

Citizens will only work ... will face pain ... will have to pay taxes ... will pay fines ... fill government pockets ... and vote them in power again!

You are requested to join hands with people and share it as much as possible so that even those who have made this rule should know it.

1 सितंबर से लागू मोटर व्हीकल एक्ट में ....

सरकार ये भी जोड़ दे कि अगर रोड गड्ढा युक्त है तो जुर्माने का दसगुना घायल व्यक्ति को सरकार दे...


😡नोट:
👉🏻 पहले सड़के ठीक करे फिर कानून लागू करे

👉🏻 पहले सड़को से आवारा जानवर हटे फिर कानून लागू करे

👉🏻 सड़को से ठेले व अतिक्रमण हटाया जाए उसके बाद कानून लागू करे

👉🏻 पार्किंग की क्या व्यवस्था सरकार ने की है पहले समझाए फिर कानून लागू करे

पैसा वसूली का धंधा न बनाये,पहले ही पब्लिक मंदी, टैक्स ,Gst ,मँहगाई से परेशान है।

https://www.anxietyattak.com/2019/09/amazing-india.html

सहमत हो तो आगे भेजे🙏🏻



कमाल है?🤔

बिना हेलमेट... जुर्माना 1000/-
नो पार्किंग में पार्किंग करना... जुर्माना 3000/-
इन्श्योरेंस नही है... जुर्माना 1000/-
शराब पी कर वाहन चलाना... जुर्माना 10000/-
नो एंट्री में वाहन चलाना... जुर्माना 5000/-
मोबाईल फोन पर बात करना... जुर्माना 2000/-
प्रदूषण सर्टिफिकेट नहीं... जुर्माना 1100/-
ट्रिपल सीट ड्राइविंग... जुर्माना 2000/-

😢 पर

❓खराब सिग्नल... कोई जिम्मेदार नहीं है!
❓सड़क पर गड्ढ़े... कोई जिम्मेदार नहीं है!
❓अतिक्रमित फुटपाथ... कोई जिम्मेदार नहीं है!
❓सड़क पर रोशनी नहीं... कोई जिम्मेदार नहीं है!
❓सड़क पर कचरा बह रहा है...कोई जिम्मेदार नहीं है!
❓सड़कों पर लाइट के खंभे नहीं... कोई जिम्मेदार नहीं है!
❓खुदी सड़क कोई मरम्मत नहीं... कोई जिम्मेदार नहीं है!
❓गड्ढों में गिर कर आप गिरो चोटिल हो जाएँ... कोई जिम्मेदार नही है!
❓आवारा गायें जानवर टकरा जाए कुत्ता काट ले... कोई जिम्मेदार नहीं!

🧐ऐसा लगता है कि जनता ही एकमात्र अपराधी है और जुर्माना देने के लिए उत्तरदायी है। प्रशासन, निगम और सरकार कोई जिम्मेदार नहीं है। उनके लिए कोई नियम लागू नहीं होते हैं। वे किसी भी चूक के लिए कभी ज़िम्मेदार नहीं हैं।
क्या उन्हें दोषी नहीं ठहराया जाना चाहिए ??❓❓🙃


😵नागरिक केवल काम करेंगे...

दर्द का सामना करेंगे...

कर चुकाना होगा...

जुर्माने का भुगतान करेगा...

सरकार की जेब भरें...

और उन्हें फिर से सत्ता में वोट दें !

https://www.anxietyattak.com/2019/09/amazing-india.html

🙏🏽आप लोगों से हाथ जोड़कर निवेदन है कि इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि यह बात उन्हें भी पता चलनी चाहिए जिन्होंने यह नियम बनाया है।🔔




Comments