Why is the market so slow?

Why is the market so slow?
So read it carefully, if all is written well then go ahead and all should send this message to everyone.

Why is recession in business ???

बाज़ार में आखिर इतनी मंदी क्यों है ??
तो गौर से पढ़ो सारे अगर लिखा हुआ ठीक लगे तो आगे बढ़ाते जाओ सब हर एक के पास ये मैसेज पहुचना चाहिये।।

मंदी क्यों है व्यापार में ???
👉बर्तन का व्यापारी परिवार के लिये जूते ऑनलाइन खरीद रहा है...
👉 जूते का व्यापारी परिवार के लिये मोबाइल ऑनलाइन खरीद रहा है...
👉 मोबाइल का व्यापारी परिवार के लिए कपडे ऑनलाइन खरीद रहा है...
👉 कपड़े का व्यापारी परिवार के लिये घड़ी ऑनलाइन ख़रीद रहा है...
👉 घडी का व्यापारी बच्चों के लिए खिलोने ऑनलाइन ख़रीद रहा है...
खिलोने का व्यापारी घर के लिये बर्तन ऑनलाइन खरीद रहा है ...

👉 और ये सब रोज सुबह अपनी-अपनी दुकान खोल कर अगरबत्ती लगा कर भगवान से प्रार्थना कर रहे हैं कि आज धंधा अच्छा हो जाये...

कहाँ से होगी बिक्री ???

👉खरीददार आसमान से नहीं आते हम ही एक दूसरे का सामान खरीद कर बाजार को चलाते हैं क्योंकि हर व्यक्ति कुछ न कुछ बेच रहा है और हर व्यक्ति खरीददार भी है...
👉 ऑनलाइन खरीदी करके आप भले 50-100 रु की एक बार बचत कर लें लेकिन इसके नुक्सान बहुत हैं क्योंकि ऑनलाइन खरीदी से सारा मुनाफा बड़ी बड़ी कंपनियों को जाता है जिनमें काफी विदेशी कंपनियां भी हैं...
👉 ये कम्पनियाँ मुठ्ठीभर कर्मचारियों के बल पर बाजार के एक बहुत बड़े हिस्से पर कब्जा कर लेती हैं, ये कम्पनियां बेरोजगारी पैदा कर रही हैं और इनके द्वारा कमाये गये मुनाफे का बहुत छोटा हिस्सा ही पुनः बाजार में आता है...
👉 यदि आप सोचते हैं कि मैं तो कोई दुकानदार नहीं हूं और ना ही व्यापारी , मैं तो नौकरी करता हूँ ऑनलाइन खरीदी से मुझे सिर्फ फायदा है नुक्सान कोई नहीं तो आप सरासर गलत हैं क्योंकि जब समाज में आर्थिक असमानता बढ़ती है या देश का पैसा देश के बाहर जाता है तो, देश के हर व्यक्ति को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से उसका नुक्सान उठाना पड़ता है चाहे वह अमीर हो या गरीब, व्यापारी हो या नौकरी करने वाला,बीमा ऐजेंट, दुकानदार हो या किसान हर कोई प्रभावित होता है...
👉 हमारी बातों पर गौर करते हुए, अगर एक बार सब मिल कर अॉनलाइन खरीदारी करना बंद कर दे तो सब लोगो का काम अच्छा चल सकता है... 🙏🙏

#वक्तहैबदलाव_का  तो ऑनलाइन खरीददारी बंद कीजिये मंदी छू मंतर हो जाएगा



Bartan businessman buying shoes online for family ...
👉 shoe merchant is buying mobile online for family…
👉 Mobile merchants buying clothes online for family ...
👉 Clothes merchant is buying watch online for family ...
व्यापारी watch merchant is buying toys online for kids ...
Blossom merchant is buying utensils online for home ...

👉 And all these people are opening their shop every morning and putting incense sticks and praying to God that today the business will be good…
Where to sell?
Buyer does not come from the sky, we are the ones who buy each other's goods and run the market because every person is selling something and every person is also a buyer ...
भले You can save Rs 50-100 once by purchasing online, but there is a lot of damage to it because all the profits from online purchases go to the big companies including many foreign companies…
👉 These companies occupy a large part of the market on the strength of a handful of employees, these companies are creating unemployment and only a small part of the profits earned by them comes back to the market…
👉 If you think that I am not a shopkeeper and not a businessman, I do a job, I only benefit from buying online, no one is harm then you are totally wrong because when economic inequality increases in society or country money Outside, every person in the country has to bear the loss, directly or indirectly, whether rich or poor, businessman or jobber, insurance agent Print, shopkeepers and farmers have no influence at all ...
गौर Looking at our things, once everyone stops shopping online, then all the people can do well… 🙏🙏




Comments