Sale of public venture by brokers to the private traders at the cost of the people.

श्री राहुल गांधी और श्री राज ठाकरे कहां हैं
https://www.anxietyattak.com/2019/06/sale-of-public-venture-by-brokers-to.html

NTPC very much congratulations and best wishes for the Sale of public venture by brokers to the private traders at the cost of the people.

Where is Mr Rahul Gandhi and Raj Thakrey 

NATIONL THARMAL POWR CORPORATION

(1) India's largest power generation company, built on November 7, 1975, In this, 89.5% of the share of the Central Government is from the public money.

(2) Current market value is Rs. 33,477 crores (one lakh thirty one thousand four hundred and fifty crores)

(3) The total assets are 2,82,600 crore (two lakh six thousand six hundred crore)

(4) Total electricity generation capacity is 55,126 MW.

(5) This company receives annual revenues of Rs 85,207 crore annually.

(6) In 2015, there were 24067 personnel in the company. There are currently 19739 employees who will be expelled from the job or they will work till death.

(7) The most joyful thing for the country is that whatever the money will be given by selling the company minded Modi gang, sitting in the government, there will be an all-round development of the country. All the remaining money will come to the account of 15 to 15 lakh rupees. Whose proceedings have begun.

(8) The company has 19 coal and 7 gas based plants in India. And for the joint venture, 11 projects under 9 coal-based and renewable energy plants are employed. Its plant is also to sell this plant in the Badarpur Thermal Plant which is spread over 2160 acres in Delhi. Imagine leaving this plant, what will be the cost of empty 2160 acres?

(9) Companions can purchase by sending tender prices and tenders in closed envelopes to this public enterprise which is also to be purchased.

(10)) We do not need to worry. After all, only the country is selling. The rest will remain with us. Do anything, do anything to run the system of the country, no. Whether or not to sell the utensils at the end. What happened to anyone? In the last four-five years, 60% of the youth of the country did not even get the chance and they became unemployed. With the support of Geo Network, Watersup University is studying the movement of "Geo and live two" in the school without movement of hands and feet.

(11) Instead of saving the country, save the bull to Baba ... save the mother ... burn the homes of millions of people ... But do not let the religious places come in ... let the family get into trouble, nationalism Crying cry ... Instead of planting trees to increase water conservation and water level, do not fake the temple by ringing the bell, wishing to pour water from the real god ... to make a political and communal violent atmosphere by deviating from the basic problems of the country.Playing an important role .... Stay in the 420 to 420 .... Sell everything in the name of nationalism ... and finally we and you, you and your two or four five ten, all deal is gonna be. He will also make a deal deal and you will be able to do everything but yes yes also.

Once again congratulations and best wishes for developing the country by selling NTPC in private hands.

























श्री राहुल गांधी और श्री राज ठाकरे कहां हैं
https://www.anxietyattak.com/2019/06/sale-of-public-venture-by-brokers-to.html

NTPC सरकारी उपक्रम को दलालों द्वारा निजी व्यापारियों को कोड़ियों के दाम पर बेचने के लिए बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनाएं।।

NATIONL THARMAL POWR CORPORATION.

(1) 7 नवंबर 1975 में बनी भारत की सबसे बडी बिजली निर्माण करने वाली सरकारी कंपनी। इसमें 89.5% हिस्सा भारतीय जनता के पैसों से केंद्र सरकार का है। 

(2) वर्तमान बाजार मूल्य 1,33,477 करोड़ (एक लाख तेहतीस हजार चार सौ सतहत्तर करोड़) रुपये।

(3) कुल संपत्ति है 2,82,600 करोड़ (दो लाख ब्यासी हजार छः सौ करोड़)

(4) कुल बिजली निर्माण क्षमता है 55,126 मेगावॉट।

(5) इस कंपनी से सरकार को सालाना कुल रेवैन्यू 85,207 करोड़ रुपये मिलते है।

(6) 2015 में कंपनी में 24067 कार्मिक थे । वर्तमान में 19739 कर्मचारी है जिनको नौकरी से निकाला जाएगा या फिर मरणासन्न तक काम चला लेंगे।

(7) देश के लिए सबसे खुशी की बात यह है कि सरकार में बैठे दिमागधारी मोदी गैंग इस कंपनी बेचकर जो भी धन मिलेगा उससे देश का चहुंमुखी विकास होगा। बचे हुए पैसे सबके खाते 15-15 लाख रुपये आएगें। जिसकी कार्यवाही शुरू कर दी है।

(8) भारत में कंपनी के 19 कोयला एवं 7 गैस आधारित प्लांट है। तथा सयुंक्त उद्यम के लिए 9 कोयला आधारित एवं अक्षय ऊर्जा संयत्र के तहत 11 परियोजनाएं कार्यरत है।इसका एक प्लांट है दिल्ली में बदरपूर थर्मल प्लांट जो लगभग 2160 एकड़ में फैला हुआ है यह प्लांट भी बेचना है। कल्पना कीजिए इस प्लांट को छोड़ो, खाली 2160 एकड़ जमीन की कीमत क्या होंगी.?

(9) यह सार्वजनिक उपक्रम है जिसको भी खरीदना है बंद लिफाफे में निविदा मूल्य एवं निविदाएं भेजकर खरीद सकते।

(10)) हमें चिंता करने की ज़रुरत नहीं है। आखिर केवल देश ही तो बिक रहा है। बाकी तो हमारे पास ही रहेगा। कैसे भी कुछ भी करो देश की व्यवस्था को चलाने के लिए कुछ तो करना पड़ेगा ना। चाहे तो अंत में बर्तन-भांडे भी क्यों न बेचना पड़े। किसी को क्या पड़ी। पिछले चार-पांच वर्षों में देश का 60% युवा भनक भी नहीं लगने दी और वह  बेरोजगार हो गया है। जियो नेटवर्क के सहयोग से वाट्सअप युनिवर्सिटी में   "जियो और जीने दो" की पाठशाला में बिना हाथ-पैर संचलन की पढ़ाई कर रहा है।

(11) देश को बचाने के बजाय बैल बाबा को बचाओं ....माता को बचाओं....लाखों लोगों के घर जला दो... लेकिन धार्मिक स्थलों पर आँच मत आने दो... परिवार को दुःख में डाल कर राष्ट्रवाद का रोना रोना... जल संरक्षण एवं जलस्तर  बढ़ाने के लिए पेड़ पौधे लगाने के बजाय मंदिर में घंटा बजा कर  नकली नहीं असली भगवानों से पानी बरसाने की कामना करो...देश की मूल समस्याओं से भटका कर राजनैतिक और सांप्रदायिक हिंसक माहौल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाओं.... 370 के लिए 420 में लगे रहो.... राष्ट्रवाद के नाम पर सबकुछ बिक जाने दो.... और अंत में हम और आपका, आपकी और आपके दो चार पांच दस जितने भी है, सबका सौदा होने वाला है। वो सौदागर सौदा भी कर देगा और आप सबकुछ जातने हुए भी हाँ हाँ भी कर दोगे।।

NTPC को निजी हाथों में बेचकर देश का विकास करने के लिए एक बार फिर से बधाई एवं शुभकामनाएं।











🤫😁😁😁😁
ज्योतिषी : तुम्हारा नाम कविता है?
कविता : जी महाराज
ज्योतिषी : रितेश तेरे पति का नाम है?
कविता : जी जी महाराज (हाथ जोड़ते हुए)
ज्योतिषी : रितेश की उम्र 45 साल है?
कविता: जी.. जी.. महाराज
ज्योतिषी : तेरे दो लड़के और एक लड़की है ?
कविता: जी.. बिलकुल सही महाराज
ज्योतिषी : बड़ा लड़का.. 18 वर्ष का है.. नाम ऋषिकांत है
कविता: (नतमस्तक हो कर) हां में गर्दन हिलाती है
ज्योतिषी : लड़की 15 साल की.. नाम ऐश्वर्या है
कविता: (झुक कर) जी.. महाराज
ज्योतिषी : सबसे छोटा लड़का है जो अभी दस साल का है.. नाम राजू है
कविता : (आश्चर्य से झुक कर चरणों में झुकतेे हुए) जी बिलकुल सही सही बता रहे हैं
ज्योतिषी : तूने कल 25 किलो गेहूं खरीदे हैं?
कविता : (पैरो पर गिर कर..) महराज आप तो पूरे अंतरयामी हैं
ज्योतिषी : अगली बार कुंडली लाना राशन कार्ड...नहीं..😜😜😜😜😜😜😜😜😜

Comments