Why Rape Suddenly Increased in India

* Come see where the problem is. *
Try to understand 

Why Rape Suddenly Increased in India

Understand some quotes in this country.

1) People say that why do rape happen?

An 8-year-old boy went to see the movie in the movie theater, and inspired by the film, he chose the path of truth, and he became big and was known by the great personality.

But what does 8-year-old boy see on TV?
Just nudity and porn videos and photos,
Magnificent photo in the magazine,
Sister-in-law's small clothes living in Pados!

People say that the reason for rap is the mentality of the children.
But the mentality came from said?
Somewhere responsible for it, we ourselves are responsible.
Because we're not * a joint family. *
We like to be alone. And to run their family, parents have to leave their children alone and go to work and children take advantage of TV and internet to overcome their loneliness.
And what they get to see them is only the same pornographic videos and photos so what will they learn?
If the same child remains alone and with his grandparents, then he will learn some good rites.
To some extent, this is also responsible.

2) The whole country is boiling on the rape,
Everyone is angry with the misery that is happening to younger children.
No government was cursed,
Many socialists have declared any society as rapists!

But from morning to night
Many times sunny leon has seen add to the condom .. !!
Then in the second add, Ranvir Singh tells the shampoo's ways to teach the girl ... !!
Close such,
Limca,
Thumsup also shows. * But then you are not angry, do not you?

You listen to the music channel with your young children
* Alcohol has been defamed, *
* Do not rock the king, *
* Munni Badnam, *
*Smooth jasmine,*
* Shrapnel balm, *
* I'll do a dirty thing with you, *
And do not know how many such movies listen to watching songs.
* Then do not you get angry ?? *

Mummy watches with Star Plus, TV, Sony TV, in which actors and actress Suhag celebrate the night.
What does it do?
Eyes in eyes.
And then sister-in-law is at home, brother-in-law is on the roof,
Papu and Babita of Pappu, in which one person will be seen dribbling behind the other's wife.
See with the whole family.
* Do not get angry by seeing all these serials? *

Films come in which kissing (kisses, hugging), romance to filthy comedy, etc. are all shown.
* But you see big fun, do not you get angry at all this? *

Openly TV-filming makes your children rapist.
They poison the poison in their minds.
Then do not you get angry?
Because you think that
The government's responsibility to stop the rape is the responsibility.
police,
Administration,
It is the responsibility of the judiciary ..
But is there no responsibility for society and the media?
Will you serve anything under the guise of freedom of expression?

You read the newspaper then.
Seeing the news will just get angry.
The system will,
To the government,
To the police,
To the administration,
DP will change,
Social media will attack a lot,
If too much, the candle march will take place but ....

TV Channels, Volleyball, will not say anything to the media. Because it is for your entertainment.
The truth is that TV Channels are serving obscenity ...
Hypocrisy is serving,
The falsehood is serving the poison,
Astrologer beyond falsehood and truth, is worshiped with hypocritical stories and mantras, talismanas etc.
They do not even have a mistake.
Because you are the buyer ..... ??
Baba Bangali, Tantric Baba, woman herself caught in the trap of vasikaran

3) Now the news channel of the TV channel is running news on the incident of Mandsaur gangrape.

As soon as the break came:
* First ad body spray in which the girl falls from the sky, *
* Second condom, *
* Third Neha Swaha-Sneha Swaha, *
* And the fourth pregnancy checking machine ...... *
When every advertisement, in every film, only woman will be considered as an act of indulgence, then such cases of rape are encouraged.

Because
"Incident does not happen at all,
It's time to rear ....! "
Certainly marketism is also responsible for such malicious incidents.

4) @Porn is being served today in social media, internet and movies. So the child will become a rapist only.
😢😢😢

* Make sure that your strict strict laws, without changing the society and the media, these incidents are not going to stop. *

Soon enough, you will soon be given the opportunity to remove Kendal March, our social media, market media and social media filled with dirt.

* If you still do not start to change then understand that ...... *
* Then someone like India is going to be wasted like Nirbhaya and other daughters. *

* If you have to avoid your daughters then you need to clear the dirty social media and social media out of government law police exit. *

If anyone talks about this

If you are Okay,  Please Share please.







*आओ देखे समस्या कहां है।*


*कुछ समझने की कोशिश करें बलात्कार अचानक इस देश मे क्यो बढ़ गए ???*
कुछ उद्धरण से समझते हैं
1) लोग कहते हैं कि रेप क्यों होता है ?
एक 8 साल का लडका सिनेमाघर मे राजा हरिशचन्द्र फिल्म देखने गया और फिल्म से प्रेरित होकर उसने सत्य का मार्ग चुना और वो बडा होकर महान व्यक्तित्व से जाना गया।
परन्तु आज 8 साल का लडका टीवी पर क्या देखता है ?
सिर्फ नंगापन और अश्लील वीडियो और फोटो,
मैग्जीन में अर्धनग्न फोटो,
पडोस मे रहने वाली भाभी के छोटे कपडे !!
लोग कहते हैं कि रेप का कारण बच्चों की मानसिकता है।
पर वो मानसिकता आई कहा से ?
उसके जिम्मेदार कहीं न कहीं हम खुद जिम्मेदार है।
क्योंकि हम *joint family नही रहते।*
हम अकेले रहना पसंद करते हैं। और अपना परिवार चलाने के लिये माता पिता को बच्चों को अकेला छोड़कर काम पर जाना है और बच्चे अपना अकेलापन दूर करने के लिये टीवी और इन्टरनेट का सहारा लेते हैं।

और उनको देखने के लिए क्या मिलता है सिर्फ वही अश्लील वीडियो और फोटो तो वो क्या सीखेंगे यही सब कुछ ना ?
अगर वही बच्चा अकेला न रहकर अपने दादा दादी के साथ रहे तो कुछ अच्छे संस्कार सीखेगा।
कुछ हद तक ये भी जिम्मेदार है।

2) पूरा देश रेप पर उबल रहा है,
छोटी छोटी बच्चियो से जो दरिंदगी हो रही उस पर सबके मन मे गुस्सा है।
कोई सरकार को कोस रहा,
कोई समाज को तो कई feminist सारे लड़को को बलात्कारी घोषित कर चुकी है !
लेकिन आप सुबह से रात तक
कई बार sunny leon के कंडोम के add देखते है ..!!
फिर दूसरे add में रणवीर सिंह शैम्पू के ऐड में लड़की पटाने के तरीके बताता है...!!
ऐसे ही Close up,
लिम्का,
Thumsup भी दिखाता है। *लेकिन तब आपको गुस्सा नही आता है है ना ???*

आप अपने छोटे बच्चों के साथ music चैनल पर सुनते ही हैं 

*दारू बदनाम कर दी,*
*कुंडी मत खड़काओ राजा,*
*मुन्नी बदनाम,*
*चिकनी चमेली,*
*झण्डू बाम,*
*तेरे साथ करूँगा गन्दी बात,*


और न जाने ऐसी कितनी मूवीज गाने देखते सुनते है।
*तब आपको गुस्सा नही आता ??*

मम्मी बच्चों के साथ Star Plus, जी TV, सोनी TV देखती है जिसमें एक्टर और एक्ट्रेस सुहाग रात मनाते है। 

किस करते है। 

आँखो में आँखे डालते है।

और तो और भाभीजी घर पर है, जीजाजी छत पर है,
टप्पू के पापा और बबिता जिसमे एक व्यक्ति दूसरे की पत्नी के पीछे घूमता लार टपकता नज़र आएगा
पूरे परिवार के साथ देखते है।

*इन सब serial को देखकर आपको गुस्सा नही आता ??*

फिल्म्स आती है जिसमे किस (चुम्बन, आलिंगन), रोमांस से लेकर गंदी कॉमेडी आदि सब कुछ दिखाया जाता है।

*पर आप बड़े मजे लेकर देखते है, इन सब को देखकर आपको गुस्सा नही आता ??*

खुलेआम TV- फिल्म वाले आपके बच्चों को बलात्कारी बनाते है। 

उनके मन मे जहर घोलते है।

तब आपको गुस्सा नही आता ?

क्योकि आपको लगता है कि
रेप रोकना सरकार की जिम्मेदारी है ।

पुलिस,
प्रशासन,
न्यायव्यवस्था की जिम्मेदारी है..

लेकिन क्या समाज और मीडिया की कोई जिम्मेदारी नही।

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की आड़ में कुछ भी परोस दोगे क्या ?
आप तो अखबार पढ़कर।
News देखकर बस गुस्सा निकालेंगे।
कोसेंगे सिस्टम को,
सरकार को,
पुलिस को,
प्रशासन को,
DP बदल लेंगे,
सोशल मीडिया पे खूब हल्ला मचाएंगे,
बहुत ज्यादा हुआ तो कैंडल मार्च या धरना कर लेंगे लेकिन....
TV चैनल्स, वालीवुड, मीडिया को कुछ नही कहेंगे। क्योकि वो आपके मनोरंजन के लिए है।
सच पुछिऐ तो TV Channels अश्लीलता परोस रहे है ...
पाखंड परोस रहे है,
झूंठे विषज्ञापन परोस रहे है ,
झूंठेऔर सत्य से परे ज्योतिषी पाखंड से भरी कहानियां एवं मंत्र, ताबीज आदि परोस रहै है।
उनकी भी गलती नही है।
क्योंकि आप खरीददार हो .....??

बाबा बंगाली, तांत्रिक बाबा, स्त्री वशीकरण के जाल में खुद फंसते हो ।
3) अभी टीवी का खबरिया चैनल मंदसौर के गैंगरेप की घटना पर समाचार चला रहा है।
जैसे ही ब्रेक आये:-
*पहला विज्ञापन बोडी स्प्रे का जिसमे लड़की आसमान से गिरती है,*
*दूसरा कंडोम का,* 
*तीसरा नेहा स्वाहा-स्नेहा स्वाहा वाला,*

*और चौथा प्रेगनेंसी चेक करने वाले मशीन का......*
जब हर विज्ञापन, हर फिल्म में नारी को केवल भोग की वस्तु समझा जाएगा तो बलात्कार के ऐसे मामलों को बढ़ावा मिलना निश्चित है।
क्योंकि
"हादसा एक दम नहीं होता,
वक़्त करता है परवरिश बरसों....!"
ऐसी निंदनीय घटनाओं के पीछे निश्चित तौर पर भी बाजारवाद ही ज़िम्मेदार है ..
4) आज सोशल मीडिया, इंटरनेट और फिल्मों में @ पोर्न परोसा जा रहा है। तो बच्चे तो बलात्कारी ही बनेंगे ना।
😢😢😢
*ध्यान रहे समाज और मीडिया को बदले बिना ये आपके कठोर सख्त कानून कितने ही बना लीजिए, ये घटनाएं नही रुकने वाली है।*
इंतज़ार कीजिये बहुत जल्द आपको फिर केंडल मार्च निकालने का अवसर हमारा स्वछंद समाज, बाजारू मीडिया और गंदगी से भरा सोशल मिडीया देने वाला है ।
*अगर अब भी आप बदलने की शुरुआत नही करते हैं तो समझिए कि ......*
*फिर कोई भारत की बेटी निर्भया एवम् अन्य बेटियों की तरह बर्बाद होने वाली है।*
*आपको आपकी बेटियां बचना है तो सरकार कानून पुलिस के भरोसे से बाहर निकलकर समाज मीडिया और सोशल मीडिया की गंदगी साफ करने की आवश्यकता है।*
अगर किसी को यह बात 

👉 अच्छी लगी हो तो प्लीज शेयर अवश्य करे ।

Comments