Brain Hemorrhage

What is Brain Hemorrhage

A very useful post of Dr. Mahesh Sinha ---

How to identify a brain injury patient?

Brain trauma - same is what is sometimes called brain-stroke or in a common language, the veins of the brain or brain-hemorrhage also say.

The post of Dr. Sahab writes about this ----

There was a party going on, a friend stumbled a little and he fell down and fell down to the people around him and convinced him that everything was fine, just because of the new boot, a little bit of a brick stumbled Had been found. (Even nearby people offered to call an ambulance).
Together friends helped him clean him up and a new plate came up too. It seemed that Ingrid is not a bit in his own but he was always enjoying the whole evening party. Later, Ingrid's husband received a call saying that he was taken to the hospital but he died on the same evening.

Indeed, during that party, Ingrid had brain-hemorrhage- if any of the people present there could identify this condition, then Ingrid is among us today.

Well, some people do not die with brain-hemorrhages - but they are forced to live a life of helplessness and helplessness for all ages.

It will only take you a minute to read what is written down ---

Stroke identification ---

A neurologist says that if any patient of the stroke arises within three hours, they can also reverse the effect of that stroke --- completely. They believe that the whole trick is simply how to identify the patient of the stroke immediately, that is diagnosed and given the medical treatment within three hours, and often all this ignorance can not be subdued.

Keep in mind three things to identify stroke patients - and always remember this before ---- STR.

Doctors believe that a passerby can also contribute to identify a stroke patient on the basis of the answers to three questions and save his precious life .... Read it well and sit in your mind - -

S --- Smile You ask that person to smile.

T-- talk Ask the person to speak any single sentence as if the weather is very good today.

R --- Raise Ask the person to raise the two sides.

If this person has trouble doing any of the above three works, then call an ambulance immediately and shift him to the hospital and tell the person who is going along with them to tell them about these symptoms so that he can go ahead and go to the doctor Could disclose

Note ------ is also a symptom of stroke -

1. Ask that person to take out Jihva (tongue).
2. If the tongue is not coming straight out and it is turning one side, it is a symptom of a stroke.

A well-known cardiologist says that if the reader of this e-mail sent it to ten people further, then you can save a precious life.
And this life can be your own -

Time is not dumb
                Just silence,
http://www.anxietyattak.com/2018/07/brain-hemorrhage.html




ब्रेन हेमरेज क्या है

डा महेश सिन्हा की एक बहुत उपयोगी पोस्ट ---
मस्तिष्क आघात के मरीज़ को कैसे पहचानें?

मस्तिष्क आघात --जी वही, जिसे कईं बार ब्रेन-स्ट्रोक भी कह दिया जाता है अथवा आम भाषा में दिमाग की नस फटना या ब्रेन-हैमरेज भी कह देते हैं।
इस के बारे में पोस्ट डाक्टर साहब लिखते हैं ----

एक पार्टी चल रही थी, एक मित्र को थोड़ी ठोकर सी लगी और वह गिरते गिरते संभल गई और अपने आस पास के लोगों को उस ने यह कह कर आश्वस्त किया कि सब कुछ ठीक है, बस नये बूट की वजह से एक ईंट से थोड़ी ठोकर लग गई थी। (आस पास के लोगों ने ऐम्बुलैंस बुलाने की पेशकश भी की).
साथ में खड़े मित्रों ने उन्हें साफ़ होने में उन की मदद की और एक नई प्लेट भी आ गई। ऐसा लग रहा था कि इन्ग्रिड थोड़ा अपने आप में नहीं है लेकिन वह पूरी शाम पार्टी तो एकदम एन्जॉय करती रहीं। बाद में इन्ग्रिड के पति का लोगों को फोन आया कि कि उसे हस्पताल में ले जाया गया लेकिन वहां पर उस ने उसी शाम को दम तोड़ दिया।

दरअसल उस पार्टी के दौरान इन्ग्रिड को ब्रेन-हैमरेज हुआ था --अगर वहां पर मौजूद लोगों में से कोई इस अवस्था की पहचान कर पाता तो आज इन्ग्रिड हमारे बीच होती।

ठीक है ब्रेन-हैमरेज से कुछ लोग मरते नहीं है --लेकिन वे सारी उम्र के लिये अपाहिज और बेबसी वाला जीवन जीने पर मजबूर तो हो ही जाते हैं।

जो नीचे लिखा है इसे पढ़ने में केवल आप का एक मिनट लगेगा ---

स्ट्रोक की पहचान ---

एक न्यूरोलॉजिस्ट कहते हैं कि अगर स्ट्रोक का कोई मरीज़ उन के पास तीन घंटे के अंदर पहुंच जाए तो वह उस स्ट्रोक के प्रभाव को समाप्त (reverse)भी कर सकते हैं---पूरी तरह से। उन का मानना है कि सारी ट्रिक बस यही है कि कैसे भी स्ट्रोक के मरीज़ की तुरंत पहचान हो, उस का निदान हो और उस को तीन घंटे के अंदर डाक्टरी चिकित्सा मुहैया हो, और अकसर यह सब ही अज्ञानता वश हो नहीं पाता।

स्ट्रोक के मरीज़ की पहचान के लिये तीन बातें ध्यान में रखिये --और इस से पहले हमेशा याद रखिये ----STR.

डाक्टरों का मानना है कि एक राहगीर भी तीन प्रश्नों के उत्तर के आधार पर एक स्ट्रोक के मरीज की पहचान करने एवं उस का बहुमूल्य जीवन बचाने में योगदान कर सकता है.......इसे अच्छे से पढ़िये और मन में बैठा लीजिए --

S ---Smile आप उस व्यक्ति को मुस्कुराने के लिये कहिए।

T-- talk उस व्यक्ति को कोई भी सीधा सा एक वाक्य बोलने के लिये कहें जैसे कि आज मौसम बहुत अच्छा है।

R --- Raise उस व्यक्ति को दोनों बाजू ऊपर उठाने के लिये कहें।

अगर इस व्यक्ति को ऊपर लिखे तीन कामों में से एक भी काम करने में दिक्कत है , तो तुरंत ऐम्बुलैंस बुला कर उसे अस्पताल शिफ्ट करें और जो आदमी साथ जा रहा है उसे इन लक्षणों के बारे में बता दें ताकि वह आगे जा कर डाक्टर से इस का खुलासा कर सके।

नोट करें ---- स्ट्रोक का एक लक्षण यह भी है --

1. उस आदमी को जिह्वा (जुबान) बाहर निकालने को कहें।
2. अगर जुबान सीधी बाहर नहीं आ रही और वह एक तरफ़ को मुड़ सी रही है तो भी यह एक स्ट्रोक का लक्षण है।

एक सुप्रसिद्ध कार्डियोलॉजिस्ट का कहना है कि अगर इस ई-मेल को पढ़ने वाला इसे आगे दस लोगों को भेजे तो शर्तिया तौर पर आप एक बेशकीमती जान तो बचा ही सकते हैं ....
और यह जान आप की अपनी भी हो सकती है -।


समय गूंगा नहीं
                बस मौन है,



http://www.anxietyattak.com/2018/07/brain-hemorrhage.html





Pilot's Career Guide Paperback – 2017

 FREE Delivery. 
Pay on Delivery (Cash/Card) eligible 
What is this? 
In stock.
Sold by Aerosoft Corp and Fulfilled by AmazonGift-wrap available.
Deliver to Shekhar - Indore 452005‌

Comments