Do not Mix Salt in Curd. दही में नमक डाल कर न खाऐं |

Do not Mix Salt in Curd.

दही में नमक डाल कर न खाऐं |


कभी भी आप दही को नमक के साथ मत खाईये. दही को अगर खाना ही है, तो हमेशा दही को मीठी चीज़ों के साथ खाना चाहिए, जैसे कि चीनी के साथ, गुड के साथ, बूरे के साथ आदि.

इस क्रिया को और बेहतर से समझने के लिए आपको बाज़ार जाकर किसी भी साइंटिफिक इंस्ट्रूमेंट की दूकान पर जाना है, और वहां से आपको एक लेंस खरीदना है, अब अगर आप दही में इस लेंस से देखेंगे तो आपको छोटे-छोटे हजारों बैक्टीरिया नज़र आएंगे |

ये बैक्टीरिया जीवित अवस्था में आपको इधर-उधर चलते फिरते नजर आएंगे. ये बैक्टीरिया जीवित अवस्था में ही हमारे शरीर में जाने चाहिए, क्योंकि जब हम दही खाते हैं तो हमारे अंदर एंजाइम प्रोसेस अच्छे से चलता है |

हम दही केवल बैक्टीरिया के लिए खाते हैं | 

दही को आयुर्वेद की भाषा में जीवाणुओं का घर माना जाता है, अगर एक कप दही में आप जीवाणुओं की गिनती करेंगे तो करोड़ों जीवाणु नजर आएंगे | 

अगर आप मीठा दही खायेंगे तो ये बैक्टीरिया आपके लिए काफ़ी फायदेमंद साबित होंगे |

वहीं अगर आप दही में एक चुटकी नमक भी मिला लें तो एक मिनट में सारे बैक्टीरिया मर जायेंगे | और उनकी लाश ही हमारे अंदर जाएगी जो कि किसी काम नहीं आएगी |

अगर आप 100 किलो दही में एक चुटकी नामक डालेंगे तो दही के सारे बैक्टीरियल गुण खत्म हो जायेंगे क्योंकि नमक में जो केमिकल्स है वह जीवाणुओं के दुश्मन है |

आयुर्वेद में कहा गया है कि दही में ऐसी चीज़ मिलाएं, जो कि जीवाणुओं को बढाये ना कि उन्हें मारे या खत्म करे | 

दही को गुड़ के साथ खाईये, गुड़ डालते ही जीवाणुओं की संख्या मल्टीप्लाई हो जाती है और वह एक करोड़ से दो करोड़ हो जाते हैं थोड़ी देर गुड मिला कर रख दीजिए |

बूरा डालकर भी दही में जीवाणुओं की ग्रोथ कई गुना ज्यादा हो जाती है |

मिश्री को अगर दही में डाला जाये तो ये सोने पर सुहागे का काम करेगी |

भगवान कृष्ण भी दही को मिश्री के साथ ही खाते थे |

पुराने समय के लोग अक्सर दही में गुड़ डाल कर दिया करते थे।

👉🏼कृपया आगे शेयर अवश्य करें
http://www.anxietyattak.com/2018/04/do-not-mix-salt-in-curd.html🙏🏼












Do not Mix Salt in Curd.





Never eat yogurt with salt. If yogurt has to be cooked, then always curd should be eaten with sweet things, such as with sugar, with good, with badera etc.



To understand this action better, you have to go to the market and go to the shop of any scientific instrument, and you have to buy a lens from there, now if you look with this lens in the curd, you will see small thousands of bacteria.



These bacteria will be seen walking around you alive. These bacteria should go in our body only in the survival stage, because when we eat curd, the enzyme process runs well inside us.



We eat curd only for bacteria.



Curd is considered a home of bacteria in the language of Ayurveda, if you count the bacteria in one cup yogurt, crores of bacteria will be seen.



If you eat sweet curd, these bacteria will prove to be beneficial for you.



If you also get a pinch of salt in the curd, then all the bacteria will die in one minute. And their bodies will go inside us, which will not work anymore.



If you put 100 kg of yogurt into a pinch, then all the bacterial properties of curd will be lost, because the chemicals in the salt are the enemies of bacteria.



Ayurveda has said that mix yogurt in the curd, which will increase the bacteria and not kill them.



Eat yogurt with jaggery, add jaggery, multiply the number of bacteria, and they become one crore to two crores, and keep them aside for some time.



By adding bura, the growth of bacteria in yogurt is multiplied more.



If the sugar candy is added to the curd, it will work on gold.



Lord Krishna also used to eat yogurt with sugar candy.



People of old times used to put jugs in curd.



👉🏼 Please Share Further

http://www.anxietyattak.com/2018/04/do-not-mix-salt-in-curd.html

Comments