A joke which is not joke

A  Joke which is not  Joke

A tourist came to a city that was immersed in the  borrowed! Full in Financial Recession :(

The tourist kept the Rs 500 note at the hotel  counter and said I'm going to like the room inside your hotel!

          Owner of the hotel ran away immediately after ghee And the amount of ghee by giving it 500 rupees  Squared!

          Going to the Ghee Bhaga milking person
Rs 500 Given the amount of milk given!

          Milk and cow near cow cow
The person has given the amount of Rs 500.
           Cow fodder and fodder near the fodder
 Rs 500 cut into account!

          The fodder went on the same hotel! They are there
Ever had a meal in a restaurant in borrowing.
500 rupees per day!

          The tourist returned and took his Rs 500 note saying that he did not like any room!

No one took anything
Neither did anyone give

All the accounts are squared!

Tell me where is the mess?

* It's not a mess, but it's all a misunderstanding
 That's our money. *

Empty hands came,
The empty hands only have to go.

* Think and enjoy life.
👏👏👏👏👏👏👏
🍂🍂🍂🍂🍂🍂🍂




एक ऐसा चुटकला जो चुटकला नहीं है
----------------------------
          एक  पर्यटक, ऐसे शहर मे आया जो शहर उधारी में डूबा हुआ था !

         पर्यटक ने Rs 500 का नोट होटल और रेस्टोरेंट  के काउंटर पर रखे और कहा मैं जा रहा हूँ आपके होटेल के अंदर कमरा पसंद करने!

          होटल का मालिक फ़ौरन भागा घी वाले के पास
और उसको Rs 500 देकर घी का हिसाब
 चुकता कर लिया !

          घी वाला भागा दुध वाले के पास और जाकर
Rs 500 . देकर दुध का हिसाब पूरा करा लिया !

          दुध वाला भागा गाय वाले के पास और गाय
वाले को Rs 500. देकर दुध का हिसाब पूरा करा दिया !
           गाय वाला भागा चारे वाले के पास और चारे
 के खाते में Rs 500 कटवा    आया !

          चारे वाला गया उसी होटल पर ! वो वहां कभी
कभी उधार में रेस्टोरेंट मे खाना खाता था।
Rs 500 देके हिसाब चुकता किया !

          पर्यटक वापस आया और यह कहकर अपना Rs 500 का नोट ले गया कि उसे कोई रूम पसंद नहीं आया !

न किसी ने कुछ लिया
न किसी ने कुछ दिया

सबका हिसाब चुकता !

बताओ गड़बड़ कहाँ है ?

*कहीं गड़बड़ नहीं है बल्कि यह सभी की गलतफहमी
 है कि रुपये हमारे है।*

खाली हाथ आये थे,
खाली हाथ ही जाना है।

*विचार करें और जीवन का आनंद लें।
👏👏👏👏👏👏👏
🍂🍂🍂🍂🍂🍂🍂

Comments