I could not stop after reading And also dedicated to you all !!!



Tells your evils every newspaper,
And you call me my clan.
A city knows me
You call water to water as a water park.
Tired everyone works //
You call it Amari's market.
It's time to go to the village, everyone has time !!
Your whole furr
Relationships are being played on a silent phone
You call this family round the family
Whose service was spent in life,
You call that parent now loads
When they used to come, Kaleja used to bring along,
You say relative to rituals //
Panchayats used to solve big issues
You call the blind corrupt arguments court
Sat in your belly carriage
The whole family can not sit even if you call it a car
Now children are forgetting elders
You say this new round of rituals ........
✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻
I could not stop after reading
And also dedicated to you all !!!











तेरी बुराइयों को हर अख़बार कहता है,
और तू मेरे गांव को गँवार कहता है //
ऐ शहर मुझे तेरी औक़ात पता है //
तू चुल्लू भर पानी को भी वाटर पार्क कहता है //
थक गया है हर शख़्स काम करते करते //
तू इसे अमीरी का बाज़ार कहता है।
गांव चलो वक्त ही वक्त है सबके पास !!
तेरी सारी फ़ुर्सत तेरा इतवार कहता है //
मौन होकर फोन पर रिश्ते निभाए जा रहे हैं //
तू इस मशीनी दौर को परिवार कहता है //
तू दस्तूर निभाने को रिश्तेदार कहता है //
बड़े-बड़े मसले हल करती थी पंचायतें //
तु अंधी भ्रष्ट दलीलों को दरबार कहता है //
बैठ जाते थे अपने पराये सब बैलगाडी में //
पूरा परिवार भी न बैठ पाये उसे तू कार कहता है //
अब बच्चे भी बड़ों का अदब भूल बैठे हैं //
तू इस नये दौर को संस्कार कहता है ........//
✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻✍🏻


पढ़ने के बाद मैं रोक न सका 

और आप सभी के बीच भी समर्पित किया !!!






पढ़ने के बाद मैं रोक न सका 

और आप सभी के बीच भी समर्पित किया !!!

http://www.anxietyattak.com/2018/03/i-could-not-stop-after-reading-and-also.html


I could not stop after reading
And also dedicated to you all !!!

Comments