Being a wife is not easy



Being a wife is not easy ...

पत्नी होना आसान नहीं होता...
अपनी इच्छाओं को मारकर घर के हर सदस्य को खुश रखना पड़ता है...
इसलिए ध्यान रखें..कि
जब वह  Restaurant में  मेन्यू कार्ड से कोई  dish पसंद कर रही हो... तो उसे पसंद करने दें..
घर में हर रोज, हर बार का खाना बनाने के लिये वह अपना काफी समय सिर्फ इसलिये देती है ...
कि 
क्या बनाना है, कितना बनाना है और किसके लिये बनाना है। 

जब वह बाहर जाने के समय तैयार होने के लिये time ले रही हो... तो लेने दें। 
उसने अपना time आपके press किये कपडो़ं को जगह पर संभाल कर रखने में, socks और रूमाल संवार कर रखने में दिया है।
 वह अपने बच्चे को संवारने के लिये भी बहुत मेहनत करती है ...ताकि वह अडो़स पडो़स के सब बच्चों से अच्छा दिख सके। 

जब वह अपना मनपसंद , पर हमारी नजर में बेसिरपैर का TV serial देखती है ....तो देखने दें।
 उसका उस serial  में तो ध्यान आधा ही रहता  है, 
बाकी का ध्यान तो दिमाग में चल रही घडी़ पर रहता है, आपके  आते ही वह अपना मनपसंद  serial  अधूरा छोड़ कर kitchen की तरफ चल देती है। 

जब वह breakfast  बनाने में time लगा रही हो तो उसे लगाने दें। 
क्योंकि
 वह सबसे बढि़या और कुरकुरे toast सबको दे रही है और ज्यादा सिंके व जले toast  खुद के लिये अलग कर रख रही है। 

जब वह चाय का कप हाथ में ले कर खिड़की के बाहर शून्य में निहार रही हो ...तो उसे निहारने दें।
 ये उसकी जिंदगी है, उसने अपने जिंदगी  के अनमोल व अनगिनत घंटे आपको दिये हैं। 
अब यदि वह अपने जिंदगी के कुछ पल खुद के लिये लेना चाहती है ...तो लेने दें। 

उसका जीवन दूसरों के लिये  भागादौडी़ में ही बीत रहा है। 
कृपया उसे और ज्यादा तेज भागने के लिये मजबूर न करें। 


   नारी शक्ति को नमन*🙏






















Being a wife is not easy ...

Every member of the house has to keep happy by killing his own desires ...

So keep in mind that When she likes a dish from the menu card in the restaurant ... then let her like it.

Every day in the house, every time he cooks, he gives his time only ...
That
What to make, how much to make and what to make for it.

When he is taking time to prepare while going out ... Let's take it then.
He has given his time to keep the clothes you have pressed in place to keep the socks and handkerchief in place.
 He also works very hard to make his child ... so that he can look good with all the children of Ados.

When he likes his favorite, but we watch TV series serially in our eyes .... then let's see.
 In that serial, the focus remains only halfway,
The rest of the meditation remains on the clock in the brain, as soon as you arrive, it leaves its favorite serial incomplete and moves towards the kitchen.

When he is taking time to make breakfast, let him put it.
Because
 He is giving the best and crispy toast to everyone, and is keeping the irrigation and burning toast separate for himself.

When he is taking a cup of tea in his hand, beholding him in the void outside the window ... then let him behold.
 This is his life, he has given you precious and countless hours of his life.
Now if he wants to take some moment of his life for himself ... then let him take it.

His life is spent in others only in Bhagagodi.
Please do not force him to run faster.

   Namani Shakti Naman * 🙏

Comments