Master means Guru

The master is the song
                     Master is music

The guru is the wave
                     The master is within

The master is out
                     The master is just outside

Guru is life
                     Guru jan hai

Master only
                     The master is the only suspension

Master is mirror
                     Guru is the only religion

Master is karma
                     The master is the master

The master is soft
                     Guru is life

The master is jehan

                     The guru is the solution

Guru is worship only
                     Guru is the worship

Master is saguna
                     Master is nirguna

The master is etc.
                     Master is the end

Master is eternal
                     Master is merging

Master is the cataclysm
                     Master is only

The guru is the ailment
                     Master is samadhi

The master is chanting
                     Master is tenacity

Master is heat
                     Guru is the yagna

Guru is havan
                     The master is the same

Master is samudha
                     The master is aarti

Guru is the hymn
                     Master is food

The master is the harness
                     Master is instrumental

The master is blind
                     The master is the leader

Master is cute
                     Guru is the only one

The master is beautiful
                     Guru is meditation

Guru is contemplation
                     Master is praise

Master is sandal
                     Guru is the same grace

The master is nandan
                     Master is dignity

Master is glory
                     Guru is consciousness

The master is the feeling
                     Master is jewel

The master is the guest
                     Master is nectar
  
The master is the fragrance
                     The master is the floor

Where the master is gross
                     Guru is mass

The master is the person
                     Guru is the creation

The master is the dream
                     Master is your own

            "without water
            "River" is useless,

           Without "guest"
            "Patio" is useless,

             "Love" no yes
         "Relatives" is useless,

                   And
         "Guru" in life, yes
             "Life" is useless
                      ♈
                Therefore
       "Guru" is necessary in life
               No "guru"


All good wishes of all the people of the guru purnima


गुरु ही गीत है
                     गुरु ही संगीत है

गुरु ही लहर है
                     गुरु ही भीतर है

गुरु ही बाहर है
                     गुरु ही बहार है

गुरु ही प्राण है
                     गुरु ही जान है

गुरु ही संबल है
                     गुरु ही आलंबन है

गुरु ही दर्पण है
                     गुरु ही धर्म है

गुरु ही कर्म है
                     गुरु ही मर्म है

गुरु ही नर्म है
                     गुरु ही प्राण है

गुरु ही जहान है

                     गुरु ही समाधान है

गुरु ही आराधना है
                     गुरु ही उपासना है

गुरु ही सगुन है
                     गुरु ही निर्गुण है

गुरु ही आदि है
                     गुरु ही अन्त हैै

गुरु ही अनन्त है
                     गुरु ही विलय है

गुरु ही प्रलय है
                     गुरु ही आधि है

गुरु ही व्याधि है
                     गुरु ही समाधि है

गुरु ही जप है
                     गुरु ही तप है

गुरु ही ताप है
                     गुरु ही यज्ञः है

गुरु ही हवन है
                     गुरु ही समिध है

गुरु ही समिधा है
                     गुरु ही आरती है

गुरु ही भजन है
                     गुरु ही भोजन है

गुरु ही साज है
                     गुरु ही वाद्य है

गुरु ही वन्दना है
                     गुरु ही आलाप है

गुरु ही प्यारा है
                     गुरु ही न्यारा है

गुरु ही दुलारा हैै
                     गुरु ही मनन है

गुरु ही चिंतन है
                     गुरु ही वंदन है

गुरु ही चन्दन है
                     गुरु ही अभिनन्दन है

गुरु ही नंदन है
                     गुरु ही गरिमा है

गुरु ही महिमा है
                     गुरु ही चेतना है

गुरु ही भावना है
                     गुरु ही गहना है

गुरु ही पाहुना है
                     गुरु ही अमृत है 
  
गुरु ही खुशबू है
                     गुरु ही मंजिल है

गुरु ही सकल जहाँ है
                     गुरु समष्टि है

गुरु ही व्यष्टि है
                     गुरु ही सृष्टी है

गुरु ही सपना है
                     गुरु ही अपना है

            "पानी" के बिना
            "नदी" बेकार है,

           "अतिथि" के बिना
            "आँगन" बेकार है,

             "प्रेम" ना हौ तो 
         "सगेसम्बन्धी"बेकार है,

                   और
         जीवन में "गुरु" ना हौ तो
             "जीवन" बेकार है।
                      ♈
                इसलिये
       जीवन में "गुरु" ज़रूरी है
               "गुरूर" नहीं।
🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻
सभी लोगो को गुरु पूर्णीमा की हार्दिक शुभकामनाये
🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻

Comments