A Poor Mother's Wish शरीर में रौंगटे खड़े कर देने वाली कविता

🔴शरीर में रौंगटे खड़े कर देने वाली कविता

    🔴🎷🌺 *माँ की इच्छा 🌺🎷🔵*

   महीने बीत जाते हैं ,
   साल गुजर जाता है ,
   वृद्धाश्रम की सीढ़ियों पर ,
   मैं तेरी राह देखती हूँ।

                   आँचल भीग जाता है ,
                   मन खाली खाली रहता है ,
                   तू कभी नहीं आता ,
                   तेरा मनि आर्डर आता है।

                             इस बार पैसे न भेज ,
                             तू खुद आ जा ,
                             बेटा मुझे अपने साथ ,
                         अपने 🏡घर लेकर जा।

 तेरे पापा थे जब तक ,
 समय ठीक रहा कटते ,
 खुली आँखों से चले गए ,
 तुझे याद करते करते।

               अंत तक तुझको हर दिन ,
               बढ़िया बेटा कहते थे ,
               तेरे साहबपन का ,
               गुमान बहुत वो करते थे।

                        मेरे ह्रदय में अपनी फोटो ,
                        आकर तू देख जा ,
                        बेटा मुझे अपने साथ ,
                        अपने 🏡घर लेकर जा।

अकाल के समय ,
 जन्म तेरा हुआ था ,
 तेरे दूध के लिए ,
 हमने चाय पीना छोड़ा था।

               वर्षों तक एक कपडे को ,
               धो धो कर पहना हमने ,
               पापा ने चिथड़े पहने ,
               पर तुझे स्कूल भेजा हमने।

                         चाहे तो ये सारी बातें ,
                         आसानी से तू भूल जा ,
                         बेटा मुझे अपने साथ ,
                         अपने 🏡घर लेकर जा।

 घर के बर्तन मैं माँजूंगी ,
 झाडू पोछा मैं करूंगी ,
  खाना दोनों वक्त का ,
  सबके लिए बना दूँगी।

            नाती नातिन की देखभाल ,
            अच्छी तरह करूंगी मैं ,
            घबरा मत, उनकी दादी हूँ ,
            ऐंसा नहीं कहूँगी मैं।

                        तेरे 🏡घर की नौकरानी ,
                        ही समझ मुझे ले जा ,
                        बेटा मुझे अपने साथ ,
                        अपने 🏡घर लेकर जा।

 आँखें मेरी थक गईं ,
 प्राण अधर में अटका है ,
 तेरे बिना जीवन जीना ,
 अब मुश्किल लगता है।

                 कैसे मैं तुझे भुला दूँ ,
                 तुझसे तो मैं माँ हुई ,
                 बता ऐ मेरे कुलभूषण ,
                 अनाथ मैं कैसे हुई ?

अब आ जा तू..
एक बार तो माँ कह जा ,
हो सके तो जाते जाते
 वृद्धाश्रम गिराता जा।
              बेटा मुझे अपने साथ
              अपने 🏡घर लेकर जा

अगर आप को सही लगा हो तो आप के पास जो भी ग्रुप है उन सभी ग्रुप में कृपया 1 बार जरूर भेजे !

http://facebook-whatsapp-jokes.blogspot.in/2017/08/a-poor-mothers-wish.html
👌 शायद आपकी कोशिश से कोई " माँ " अपने 🏡 घर चली जाये ... ☝याद रखना....☝🏽
माँ बाप उमर से नहीं..
" फिकर से बूड़े होते है..
कड़वा है मगर सच है " ...🙏🙏🏽🙏🏽🙏🏽
👌जब बच्चा रोता है , तो पूरी बिल्डिंग  को पता चलता है , 👌🏽
मगर साहब ,
जब  माँ बाप रोते है तो बाजु वाले को भी पता नही चलता है,
ये जिंदगी की सच्चाई है..☝🏽👍👆 👌🏻



    🔴🎷🌺 * A Poor Mother's Wish 🌺🎷🔵 *

   The months pass,
   Year passes,
   On the stairs of the old age,
   I see your way

                   Anchal is drenched,
                   The mind remains empty,
                   You never come
                   Your money order comes.

                             Do not send money this time,
                             Come on yourself,
                             Son with me,
                         Go to your home.

 Unless you had a Papa,
 Cutting down time,
 Gone with open eyes,
 Do you remember

               By the end of you every day,
               The great son would say,
               Your helper,
               Guantan used to do so much.

                        In my heart my photo,
                        Come and see.
                        Son with me,
                        Go to your home.

During the famine,
 Born was thys
 For your milk,
 We left tea.

               One clothes for years,
               Wear we wash,
               Papa wore rags,
               But we sent you to school.

                         Regardless of all these things,
                         You can easily forget,
                         Son with me,
                         Go to your home.

 I will approve the utensils of the house,
 I will sweep the broom,
  Eating time,
  I will make it for everyone.

            Care of grandchildren,
            I will do well,
            Do not panic, I'm her grandmother,
            I will not say no

                        Your house maid,
                        Take me understanding,
                        Son with me,
                        Go to your home.

 Eyes tired of me,
 Life is stuck in the balance,
 Live without you,
 It seems difficult now

                 How can i forget you
                 I was born to you,
                 Tell me my jewelery,
                 How did I become orphan?

Come now you ..
Once you go to mother,
He could go as far as possible
 Grow old age homes
              Son me with you
              Take your home

If you are right then please send us 1 group of all those groups that you have.

http://facebook-whatsapp-jokes.blogspot.in/2017/08/a-poor-mothers-wish.html

👌 Perhaps your "mother" goes home to your 🏡 home ... ☝ keep remembering .... 👌

Not with my parents Umar ..

"Fukar is a boy."
Bitter but true "... 🙏🙏🏽🙏🏽🙏🏽

When the child cries, the whole building finds out, 👌🏽

But sir,

When the parents cry, then the neighbors also do not know,


This is the truth of life..☝🏽👍👆 👌🏻





Comments